खन्ना [सचिन आनंद]। पाकिस्तान से जान बचाकर भारत आए खैबर पख्तूनख्वा विधानसभा में बारीकोट सीट से पूर्व विधायक बलदेव कुमार को पाकिस्तान से धमकियां मिलनी शुरू हो गई हैं। पाकिस्तानी गायक जस्सी लयलपुरिया की धमकी के बाद अब ISI एजेंट और पाकिस्तान प्रबंधक कमेटी के पूर्व प्रधान गोपाल चावला ने भी बलदेव को धमकी दी है। चावला बकायदा एक वीडियो जारी की है। इसमें वह यह भी स्वीकार कर रहा है कि वह खालिस्तानी समर्थक है।

वीडियो से साफ है कि पाकिस्तान की नापाक हरकतों का बलदेव द्वारा पर्दाफाश करने से पाकिस्तान परेशान है। पाक ने एक सिख नेता के जरिए बलदेव के खिलाफ मुहिम शुरू की है। इसी कारण गोपाल चावला ने माना कि वो खालिस्तानी है और वो बलदेव को भी इसमें जोड़ना चाहता था, लेकिन बलदेव ने भारत आकर वहां के हालातों का पर्दाफाश कर दिया, इसलिए गोपाल चावला उसके खिलाफ बोल रहा है।

गोपाल चावला को बलदेव कुमार ने भी कड़ा जवाब दिया है। बलदेव कुमार ने कहा कि उसे खुशी है कि गोपाल चावला ने माना कि वह खालिस्तानी है। उसे शर्म आती है चावला जैसों को भाई कहते हुए। आप जो कर रहे हो, वह हकीकत खुद सामने आ रहा है। पंजे वाला स्थान ( गुरुद्वारा पंजा साहिब) आपको तबाह करेगा। सिखों को अपने फायदे के लिए बदनाम न करो। कितनी भी धमकी दो वह डरने वाला नहीं है। गोपाल चावला यह बताएं कि उन्हें प्रबंधक कमेटी से क्यों निकाला गया। आप गुरु घरों का पैसा खाते हैं। इसकी सजा वाहेेगुरु देगा।

पाक गायक जस्सी लयलपुरिया भी दे चुका है धमकी

बता दें, पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर हो रहे अत्याचार की पोल खोलने और खुद इसका शिकार होने पर बलदेव कुमार ने भारत में राजनीतिक शरण की मांग की है। मीडिया में बलदेव का मामला उठाए जाने के बाद इसका असर पाकिस्तान में भी दिखाई दिया। पाकिस्तान के मशहूर सिख पंजाबी गायक जस्सी लयलपुरिया ने Whatsapp के जरिए कॉल कर बलदेव कुमार को मंगलवार की शाम को धमकी दी। दोनों में फोन पर तीखी बहस हुई।

इस दौरान जस्सी ने बलदेव को पाकिस्तान और वहां के प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ दिए बयानों को गलत बताया और कहा कि तुम ठीक नहीं कर रहे। उन्हें इसके गंभीर नतीजे भुगतने पड़ सकते हैं। इस पर गुस्से में आए बलदेव ने जस्सी को फटकारा और कहा कि वह (जस्सी) पाकिस्तान की सरकार के हाथों इस्तेमाल हो सकते हैं, लेकिन मैं ऐसा नहीं कर सकता। उन्हें जो करना है कर लें।

पाक के गुरुद्वारों में ग्रंथी भी आइएसआइ के इशारे पर होते हैं भर्ती 

बलदेव कुमार ने कहा कि पाकिस्तान के गुरुद्वारों में ग्रंथी भी आइएसआइ के इशारे पर भर्ती होते हैं। करतारपुर कॉरिडोर भारत के सिखों के लिए अच्छी पहल है, लेकिन पाकिस्तान की फितरत को देखते हुए इसमें साजिश दिखाई दे रही है। बलदेव ने भारतीय सिखों को भी संदेश दिया। किसी धर्म विशेष का नाम लिए बगैर उन्होंने कहा कि भारत के सिखों को यह समझना चाहिए कि जो लोग हमारे गुरुओं के नहीं हुए, वे हमारे क्या होंगे। बलदेव ने कहा कि गुरुद्वारों में पाठ और अरदास के दौरान बिजली सप्लाई बंद करने वाली पाकिस्तानी कौम अल्पसंख्यकों को निम्न दर्जे के नागरिक के तौर पर देखती है। 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!