जागरण संवाददाता, बठिंडा। 74 साल बाद 10 जनवरी 2022 को पाकिस्तान स्थित श्री करतारपुर साहिब में मिले दो भाई अब एक साथ रह पाएंगे। पाकिस्तान सरकार ने भारत में रहते सीका खान को पाकिस्तान का वीजा दे दिया है। पाकिस्तान हाई कमिशन द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार सीका खान को पाकिस्तान में रहते अपने भाई मुहम्मद सदीक व अन्य पारिवारिक सदस्यों से मिलने के लिए वीजा दे दिया गया है। यह दोनों भाई 1947 के विभाजन के समय अलग हो गए थे। सीका खान ने पाकिस्तान सरकार से वीजा के लिए गुहार लगाई थी। इसके बाद उनको पाकिस्तान द्वारा वीजा दे दिया गया।

बठिंडा जिले के गांव फूलेवाला के रहने वाले सीका खान ने बताया कि उनका गांव जगराओं के पास कोठे था। देश के दो टुकड़े होने के दौरान वह उस समय दो साल का था और अपनी मां के साथ अपने ननिहाल गांव फूलेवाला में आया हुआ था। बंटवारे के दौरान शुरू हुए खून खराबे के बीच उसका भाई मुहम्मद सदीक और बहन पिता के साथ पाकिस्तान रवाना हो गए और वह अपनी मां के साथ यहीं रह गया। यहां गांव के लोगों ने दोनों को छिपाकर उनकी जान बचाई थी। उन्होंने बताया कि पाकिस्तान जाते समय उनकी बहन की मौत हो गई जबकि पिता और उनका भाई किसी तरह पाकिस्तान पहुंच गए।

पिता और भाई से कभी संपर्क नहीं हो पाया

सीका खान ने बताया कि इसके बाद उनका पिता और भाई के साथ कभी संपर्क नहीं हो पाया। बस मन में कसक थी कि कोई मुझे अपने भाई से मिला दे। उन्होंने बताया कि परिवार से बिछड़ने के कारण उनकी मां दिमागी तौर से परेशान हो चुकी थी और उन्होंने एक दिन नहर में छलांग मार कर जान दे दी। 10 जनवरी को पाकिस्तान के समाजसेवी नासिर ढिल्लों और भारत के डा. जगसीर सिंह के प्रयास से दोनों भाई मिले थे। भाई से मिलने के बाद सीका खान लगातार अपने भाई के पास जाने के लिए प्रयास कर रहे थे। अब उनकी यह मांग पूरी हो गई है।

Edited By: Vipin Kumar