जागरण संवाददाता, लुधियाना। 6th pay Commission: छठे वेतन आयोग की सिफारिशों का विरोध कर रहे सरकारी डाक्टर शनिवार को भी ओपीडी बंद रखेंगे। सरबत बीमा योजना, वीडियो कांफ्रेंसिंग, इलेक्टिव सर्जरी, यूडीआइडी सेवाओं का बायकाट किया जाएगा। सेहत मंत्री बलवीर सिद्धू से मिले आश्वासन के बाद डाक्टरों ने सभी सेवाएं बंद नहीं करने का फैसला किया है। वैक्सीनेशन, कोविड व एमएलआर से संबंधित काम होते रहेंगे।

पंजाब सिविल मेडिकल सर्विसेज (पीसीएमएस) एसोसिएशन पंजाब के कार्यकारी सदस्य डा. अखिल सरीन का कहना है कि चंडीगढ़ में डाक्टरों के प्रदर्शन के दौरान सेहत मंत्री ने भरोसा दिया है कि उनकी मांगों को जल्द पूरा कर दिया जाएगा। शनिवार शाम को एसोसिएशन की बैठक होगी जिसमें आगे की रणनीति बनाई जाएगी।

इलाज करवाने आई ख्वाजा कोठी के करीब रहने वाली 56 वर्षीय शारदा देवी। (जागरण)

डाक्टरों की हड़ताल के कारण सिविल अस्पताल व मदर एंड चाइल्ड अस्पताल में शुक्रवार को भी मरीजों को परेशान होना पड़ा। इस बारे में खेड़ी चमेडी की गुरमीत कौर ने बताया कि उसके पति बलवीर सिंह के हाथ में दिक्कत है। वह दिव्यांगता प्रमाण पत्र बनवाने आए थे। वह हड्डियों के डाक्टर के पास आए थे। कई दिन से हड़ताल के कारण धक्के खाने पड़ रहे हैं। लाेगाें का कहना है कि सरकार काे डाक्टराें की मांगें मान लेनी चाहिए ताकि उन्हें परेशानियाें काे सामना न करना पड़े।

यह भी पढ़ें-लुधियाना के MLA बैंस की मुश्किलें बढ़ीं, High Court में केस रद करने की याचिका खारिज; गिरफ्तारी की लटकी तलवार

---

पिछले तीन दिन से नहीं मिल रहा काेई डाक्टर

ख्वाजा कोठी के पास रहने वाली 56 वर्षीय शारदा देवी ने बताया कि उन्हें खून की कमी है। दस दिन पहले सिविल अस्पताल में दाखिल रही हूं। घर आने के बाद पिछले तीन दिन से पैरों में दर्द हो रहा है। रोज सिविल अस्पताल आ रही हूं। कोई डाक्टर नहीं मिलता है।

यह भी पढ़ें-Punjab Congress Politics: नवजाेत सिद्धू की कार में कैबिनेट मंत्री आशु, लुधियाना में बदलने लगे सियासी समीकरण

 

Edited By: Vipin Kumar