जेएनएन, लुधियाना। पंजाब कृषि विश्वविद्यालय की ओर से इस साल चार वर्षीय बीटेक मैकेनिकल इंजीनियरिंग डिग्री कोर्स को शुरू किया जाना था। पीएयू को उम्मीद थी कि इस प्रोग्राम को लेकर स्टूडेंट्स काफी रिस्पांस दिखाएंगे, लेकिन पीएयू की उम्मीदें धरी की धरी रह गई, क्योंकि इस कोर्स को लेकर विद्यार्थियों का रिस्पांस बेहतर नहीं मिला।

पीएयू में शुक्रवार को बीटेक मैकेनिकल इंजीनियरिंग में रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए केवल पांच स्टूडेंट पहुंचे थे। इस डिग्री प्रोग्राम को लेकर कुल 40 सीटें पीएयू द्वारा रखी गई थीं। जानकारों के अनुसार डिग्री प्रोग्राम को शुरू करने के लिए कम से कम 30 प्रतिशत सीटें फुल होनी जरूरी थी, जो नहीं हो पाई। ऐसे में जिन पांच स्टूडेंट्स ने बीटेक मैकेनिकल इंजीनियरिंग के लिए आवेदन किया था और पहली, दूसरी व तीसरी काउसंलिंग के बाद रजिस्ट्रेशन करवाया था, उन्हें एग्रीकल्चरल इंजीनियरिंग में शिफ्ट कर दिया गया। इसको लेकर स्टूडेंट्स ने विरोध जताया। उनका कहना था कि बीटेक मैकेनिकल इंजीनियरिंग के लिए आवेदन किया था। अचानक उन्हें एग्रीकल्चरल इंजीनियरिंग में शिफ्ट किए जाना उचित नहीं है।

इस पर रजिस्ट्रेशन कर रहे अफसरों व पीएयू के आला अधिकारियों ने स्टूडेंट्स को समझाया कि बीटेक मैकेनिकल इंजीनियरिंग प्रोग्राम को शुरू करने के लिए जितनी सीटें भरी होनी चाहिए थी, वह नहीं भरी। ऐसे में वह इस प्रोग्राम को शुरू नहीं कर सकते। इसके बारे में प्रॉस्पेक्ट पर भी जानकारी दी गई थी। अधिकारियों के काफी समझाने के बाद स्टूडेंट्स माने और दूसरे डिग्री प्रोग्राम में दाखिला लिया। इस संबंध में जब डीन व डायरेक्टर से बात करने के लिए उन्हें फोन किया तो उनसे संपर्क नहीं हो पाया।

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sat Paul

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!