जेएनएन, श्री माछीवाड़ा साहिब : सतलुज दरिया के नवांशहर जिले के अधीन पड़ते गांव बुर्ज टहल दास की मंजूरशुदा सरकारी खड्ड में रेत के अवैध खनन का आरोप लगाते हुए बलवीर सिंह नामक व्यक्ति ने पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दायर की। हाई कोर्ट के आदेश के बाद वीरवार को लुधियाना के सेशन जज गुरबीर सिंह और डिप्टी कमिश्नर वरिदर शर्मा प्रशासनिक अफसरों के साथ धुस्सी बांध का दौरा करने पहुंचे।

याचिकाकर्ता बलवीर सिंह ने खनन ठेकेदारों पर आरोप लगाते हुए कहा कि सतलुज दरिया की बुर्ज टहल दास सरकारी खड्ड में से नियमों के विपरीत रेत का अवैध खनन हो रहा है। कमजोर पुल के ऊपर से ओवरलोडेड टिप्पर निकाले जा रहे हैं। जंगलात विभाग की सरकारी जमीन में से भी रेत का अवैध खनन किया जा रहा है।

उधर, बुर्ज टहल दास की सरकारी खड्ड के ठेकेदार महादेव कंपनी के नुमाइंदों का कहना है कि सतलुज दरिया में अवैध खनन नहीं हो रहा। उन के पास प्रतिदिन 23,200 टन रेत खुदाई करने की इजाजत है। बुर्ज टहल दास की इस खड्ड में से 700 टिप्पर ही निकलते हैं जो कि परमिशन से कम है।

कांग्रेस नेता ने जज के सामने खोली रेत ठेकेदारों की पोल

कांग्रेस नेता व पूर्व ब्लॉक समिति सदस्य ताज परमिदर सिंह सोनू ने सेशन जज व डिप्टी कमिश्नर लुधियाना के आगे रेत ठेकेदारों की पोल खोलते कहा कि सतलुज दरिया के 7 किलोमीटर लंबे धुस्सी बांध को ओवरलोडेड टिप्परों से तोड़ा जा रहा है। यही नहीं इन टिप्परों की वजह से गांवों की लिक सड़कें भी टूट गई हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!