जगराओं, (लुधियाना) जेएनएन। Gangsters Attack On Punjab Police: गैंगस्टर जयपाल फिरोजपुरिया ने साथियाें के साथ मिलकर एएसआइ भगवान सिंह, एसआइ दलविंदरजीत सिंह की गोलियां मारकर हत्या की थी।  गैंगस्टर एएसआइ भगवान सिंह का कत्ल करने के उपरांत उनका लाइसेंसी रिवाल्वर और दलविंदर जीत सिंह का मोबाइल जाते हुए अपने साथ ले गए थे। शनिवार देर शाम नई अनाज मंडी में हुई वारदात में घायल होमगार्ड जवान राजविंदर सिंह निवासी गांव ढोला थाना गिद्दड़बाहा जिला मुक्तसर के बयान पर गैंगस्टर जयपाल फिरोजपुरिया, बब्बी मोगा, जस्सी खरड़ जिला एसबीएस नगर और एक अज्ञात के खिलाफ थाना सिटी जगराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

एएसआइ भगवान सिंह, एसआइ  सिंह दलविंदरजीत सिंह और राजविंदर सिंह सीआइए स्टाफ में तैनात है। वह अपनी प्राइवेट गाड़ी में चेकिंग दौरान लगते रेलवे फाटक जगराओं की ओर जा रहे थे। शाम 6:00 बजे के करीब जब वह नई दाना मंडी पहुंचे तो वहां पर एक सफेद रंग की कार खड़ी थी। कार में 2 नौजवान उतरकर डिग्गी से एक लाल रंग का सूटकेस निकाल कैंटर नंबर पीवी 04 एडी 2526 के केबिन में बैठे हुए व्यक्तियों को पकड़ा रहे थे। शक होने पर कैंटर में बैठे लोगों से पूछताछ शुरू की और उनसे पहचान पत्र दिखाने के लिए कहा।

एएसआइ भगवान सिंह ने कहा यह तो गैंगस्टर जयपाल फिरोजपुरिया है। कैंटर से नीचे उतरे नौजवान ने कार के नजदीक खड़े अपने दूसरे साथी को कहा कि बब्बी इसको घेर ले। इसके बाद नौजवान ने भगवान सिंह को बाजू से पकड़ लिया और कैंटर के कंडक्टर सीट से उतरे नौजवान गैंगस्टर जयपाल ने एएसआइ भगवान सिंह पर फायर करना शुरू कर दिए जो उसकी गर्दन के पिछले और लगे। इसके बाद वे वहीं पर गिर गया। कैंटर में ड्राइवर सीट वाली से एक और नौजवान ने उतरते ही अपने पिस्तौल से एएसआइ दलविंदर पर फायरिंग की तो वह अपने बचाव के लिए भागने लगा तो गोली उसके पीछे पीठ पर लगी और दलजिंदरजीत सिंह भी वहीं पर गिर गए।

होमगार्ड जवान ने भागकर बचाई जान

होमगार्ड जवान राजविंदर सिंह के अनुसार भाग कर जान बचाने के लिए की कोशिश की तो एक और युवक ने उस पर भी फायर किया लेकिन वह एकदम पीछे हट गए हट गया। गोलियां चलाने के बाद सभी ने कैंटर से कुछ सामान उतार कर कार में रखा और फरार हो गए। राजविंदर सिंह के बयान पर गैंगस्टर जयपाल फिरोजपुरिया तथा उसके तीन साथियों के खिलाफ थाना सिटी जगराओं में मुकदमा दर्ज करके आगे की जांच शुरू की गई है।