जासं, लुधियाना। एतिहासिक गुरुद्वारा श्री आलमगीर साहिब में निहंग सिहों ने बेअदबी का आरोप लगाते हुए एक महिला पर हमला कर उसे जख्मी कर दिया। महिला की गुरुद्वारा साहिब में बेहोश पड़े होने की फोटो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुई है। हालांकि मामले को लेकर गुरुद्वारा प्रबंधन से लेकर पुलिस अधिकारी तक दिन भर लीपापोती करते नजर आए। रविवार रात समाचार लिखे जाने तक पुलिस की ओर से मामले को लेकर कोई कार्रवाई की गई।

घटना रविवार सुबह की है। बताया जा रहा है कि गुरुद्वारा साहिब में अमृत संचार करवाया जा रहा था। इसके लिए वो महिला भी वहां पहुंची थी, मगर वहां अमृत संचार करवा रहे पंच प्यारों ने महिला को यह बोल कर अमृत संचार करवाने से मना कर दिया कि वो अमृत संचार की जरूरी मर्यादाओं पर पूरी नहीं उतर सकी। उन्होंने महिला को अमृत संचार वाले कक्ष से बाहर जाने को बोल दिया।

इसके बाद महिला ने वहां हंगामा कर दिया। इसी बीच वहां पहुंचे निहंग सिंहों ने कृपाण से उस पर हमला कर दिया। हमले में महिला की टांगों पर चोटें आईं। इलाज के लिए उसे डेहलों के सरकारी अस्पताल ले जाया गया, जहां से उसे सिविल अस्पताल लुधियाना रेफर कर दिया गया। हालांकि देर शाम पता करने पर सिविल अस्पताल में ऐसी किसी महिला को वहां लाए जाने की बात सामने नहीं आई।

गुरुद्वारा साहिब के महिंदर ने कहा, ऐसी घटना नहीं हुई

गुरुद्वारा साहिब के महिंदर सिंह ने कहा कि ऐसी कोई घटना नहीं हुई है। लोगों ने बिना वजह वहां शोर मचा दिया। जिस महिला के बारे में बताया गया है, वह पहले से ही अमृतधारी है।

किसी ने कोई शिकायत नहीं था : थाना प्रभारी

थाना प्रभारी इंस्पेक्टर सुखजीत सिंह ने कहा कि गुरुद्वारा प्रबंधन, महिला अथवा उसके किसी स्वजन की ओर से ऐसी कोई शिकायत नहीं मिली है। इसके चलते कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

यह भी पढ़ें-Punjab Election 2022: जानिए पंजाब के पूर्व डीजीपी मोहम्मद मुस्तफा के 'हिंदू विराेधी' बयान पर क्याें मचा है बवाल

Edited By: Vipin Kumar