लुधियाना, जेएनएन। सड़क निर्माण में हुई धांधलियों के मामले में लुधियाना नगर निगम के अफसर फंसने वाले हैं। जल्द अकाउंट जनरल पंजाब के सेक्रेटरी सड़क निर्माण में हुई धांधलियों का आडिट कर सकते हैं और आडिट में अफसरों की लापरवाही सामने आई तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई हो सकती है। आरटीआइ एक्टिविस्ट रोहित सभ्रवाल ने शहर में सड़क निर्माण के दौरान बीएंडआर ब्रांच के अफसरों की लापरवाही की शिकायत  इंडियन आडिट एंड अकाउंट डिपार्टमेंट को भेजी।

शिकायत मिलने के बाद इंडियन आडिट एंड अकाउंट डिपार्टमेंट के अकाउंट अफसर ने माना कि सड़क निर्माण में धांधली हुई है और उन्होंने जांच अकाउंट जरनरल आडिट पंजाब के सेक्रेटरी को इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं। जल्द ही शहर में हुए विकास कार्यों का आडिट हो सकता है और बीएंडआर ब्रांच के अफसरों की मिली भगत सामने आ सकती है।

अक्तूबर में जोन ए में सात सड़कों की हुई जांच

अक्तूबर में जोन ए में बनी सात सड़कों की जांच की गई थी। जिसमें ठेकेदारों की लापरवाही तो सामने आई ही है लेकिन सड़क निर्माण में अफसरों की भूमिका भी शक के दायरे में आ गई थी। रोहित सभ्रवाल ने उन सात सड़कों के बारे में नगर निगम से जानकरी मांगी तो निगम ने साफ लिखकर दे दिया कि जिन सात सड़कों के सैंपल फेल हुए हैं, उनके निर्माण के दौरान अफसरों ने मेजरमेंट बुक ही मेंटेन नहीं की। राेहित सभ्रवाल को जब आरटीआइ में यह जानकारी मिली तो उन्होंने इंडियन आडिट एंड अकाउंट डिपार्टमेंट के अकाउंट अफसर को शिकायत भेजकर इस मामले का आडिट करने की मांग की।

उनकी शिकायत पर इंडियन आडिट एंड अकाउंट डिपार्टमेंट के अकाउंट अफसर ने पंजाब सरकार के प्रिंसिपल अकाउंट जनरल आडिट के सेक्रेटरी को आदेश दिए हैं कि वह इस मामले में जांच करें और आगे की कार्रवाई जरूर करें। रोहित सभ्रवाल ने बताया कि अकाउंट अफसर का एक पत्र उन्हें मिल गया हे। जिसमें बीएंडआर ब्रांच के अफसरों के खिलाफ जांच करने को कहा गया है।

Edited By: Rohit Kumar