खन्ना, जेएनएन। पंजाब के खाद्य आपूर्ति विभाग की तरफ से कोरोना वायरस की वजह से प्रदेश में लगाए गए क‌र्फ्यू व लॉकडाउन के दौरान खन्ना के सैकड़ों लाभार्थियों के आटा-दाल स्कीम के नीले कार्ड काटे जाने का मुद्दा गर्मा गया है। विपक्ष इस मुद्दे पर कई बार धरना प्रदर्शन कर रोष जता चुका है और कईं इलाकों में लोगों की तरफ से भी सरकार और प्रशासन के खिलाफ गुस्सा जाहिर किया जा चुका है। इसके चलते खन्ना के विधायक गुरकीरत सिंह कोटली और पायल के विधायक लखवीर सिंह लक्खा ने पंजाब के खाद्य व आपूर्ति मंत्री भारत भूषण आशू से लुधियाना में उनके आवास पर मुलाकात की।

 इसदौरान दोनों विधायकों ने नीले कार्डों की समस्या को मंत्री के सामने रखा। कोटली और लक्खा ने कहा कि बिना किसी सर्वे के काटे गए इन कार्डों से कईं गरीब और जरूरतमंद परिवार मुश्किल में आ गए हैं। किसी तरह से उन्हें इस बार राशन भिजवाया गया है। लेकिन, भविष्य में यह मसले विकराल समस्या बना जाएंगे। क‌र्फ्यू के कारण पहले ही गरीबों की आर्थिक हालत बिगड़ी हुई है। ऐसे में कार्ड कटने से दोहरी मार पड़ी है।

दोनों विधायकों की बात सुनकर कैबिनेट मंत्री आशू ने आश्वासन दिया कि वे जल्द ही विभाग को काटे गए कार्डों की दोबारा जांच के निर्देश देंगें। जो लोग सच में जरूरतमंद होंगे, उनके कार्ड दोबारा बना दिए जाएंगें। उनके साथ कांग्रेसी नेता रूपिंदर सिंह राजा गिल, खन्ना नगर कौंसिल के पूर्व प्रधान विकास मेहता, ब्लॉक कांग्रेस शहरी प्रधान ज¨तदर पाठक, नीरज वर्मा भी मौजूद थे।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!