जागरण संवाददाता, लुधियाना। पति की चाची के घर रहने के लिए डाबा के कबीर नगर में गई विवाहिता के साथ पति के चचेरे भाई ने दुष्कर्म कर लिया। किसी को बताने की सूरत में उसे जान से मारने की धमकियां भी दीं। कई शिकायतें देने के बाद भी जब पुलिस ने आरोपित पर कार्रवाई नहीं की तो मामले की शिकायत डीजीपी पंजाब के पास दी गई। घटना के 14 महीने बाद खरड़ की थाना सदर पुलिस ने आरोपित के खिलाफ जीरो एफआईआर दर्ज करके कार्रवाई के लिए थाना सलेम टाबरी पुलिस के पास भेज दी। अब थाना सलेम टाबरी पुलिस ने आरोपित पर केस दर्ज करके उसकी तलाश शुरू कर दी है।

एसआइ तमन्ना देवी ने बताया कि उसकी पहचान डाबा रोड के कबीर नगर की गली नंबर 11/1 निवासी अक्षय वर्मा के रूप में हुई। पुलिस ने खरड़ के गांव तिओड़ निवासी 24 वर्षीय विवाहिता की शिकायत पर उसके खिलाफ केस दर्ज किया। 29 जून 2021 में डीजीपी को दी शिकायत में पीड़िता ने बताया कि नवंबर 2015 में उसकी शादी सलेम टाबरी के मोहल्ला पीरू बंदा निवासी युवक के साथ हुई थी। 13 मई 2020 को उसका पति उसे कबीर नगर में अपनी चाची के घर छोड़ गया। उक्त आरोपित अक्षय वर्मा उसके पति का चचेरा भाई है। 16 मई को वो उसे पीरू बंदा मोहल्ला स्थित उसके ससुराल ले आया। जहां उसे कोई मीठी चीज खिला दी। जिसमें नशा था। उसे बेसुध करके आरोपित ने उसके साथ दुष्कर्म किया। बाद में किसी के बताने की हालत में जान से मारने की धमकियां दीं।

खरड़ के गांव तिओड़ निवासी पीड़िता के पिता ने बताया कि घटना के अगले ही दिन मामले की शिकायत थाना सलेम टाबरी पुलिस को दी गई थी। मगर पुलिस ने उस पर कोई कार्रवाई नहीं की। जिसके बाद पुलिस कमिश्नर से मिल कर शिकायत दी। मगर उन्होंने मामले की जांच वूमेन सेल को सौंप दी जबकि यह मामला सीधा सीधा दुष्कर्म का था। इसलिए वूमेन सेल में भी कुछ नहीं हुआ। फिर उन्होंने मोहाली एसएसपी को शिकायत दी। वहां से भी वो मामला वूमेन सेल के पास भेज दिया गया। आरोपित के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो सकी। अंत में उन्होंने मामले की शिकायत डीजीपी पंजाब को दी। मामले की जांच खरड़ के थाना सुहाना पुलिस को सौंप दी। जांच के बाद आरोप सही पाए जाने के बाद थाना सदर पुलिस ने केस दर्ज करके लुधियाना पुलिस को कार्रवाई के लिए भेज दिया।

 

Edited By: Vipin Kumar