लुधियाना [राजन कैंथ]। दुष्कर्म मामले में सजा से बचने के लिए आरोपित व उसके परिवार ने साजिश के तहत पीड़िता के साथ सशर्त शादी करा ली। मगर शादी के तीन महीने बाद ही उसे बीमारी की हालत में मारपीट करके घर से निकाल दिया। तीन साल बाद अब थाना पीएयू पुलिस ने आरोपित व उसकी मां के खिलाफ केस दर्ज करके उनकी तलाश शुरू की है। एएसअाई निशान सिंह ने बताया कि आरोपितों की पहचान हंबड़ा रोड के प्रताप सिंह वाला की गली नंबर-3 निवासी कमलजीत सिंह व उसकी मां गुरमेल कौर के रूप में हुई। पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर उनके खिलाफ धोखाधड़ी व दहेज प्रताड़ना के आरोप में केस दर्ज किया है।

प्लॉट और हर महीने का खर्च देने का किया था वादा

पीड़िता ने बताया कि उसने 15 जुलाई 2015 में कमलजीत सिंह के खिलाफ थाना हैबोवाल में दुष्कर्म के आरोप में केस दर्ज कराया था। मामले में पुलिस ने उसे गिरफ्तार करके जेल भेज दिया। मगर उसके जेल जाने के बाद उसके परिजनों ने पीड़िता के साथ समझौता कर लिया। जिसमें उन्होंने वादा किया कि कमलजीत के साथ उसकी शादी करा दी जाएगी। हंबड़ा रोड पर उसे 60 वर्ग गज का प्लॉट खरीद कर उसके नाम पर किया जाएगा। हर महीने उसे खर्च के तौर पर पांच हजार रुपये उसके बैंक अकाउंट में जमा कराए जाएंगे। सभी शर्तों को मानने के बाद पीड़िता ने अपना केस वापस ले लिया और दोनों की शादी हो गई।

बीमारी की हालत में घर से निकाला

शादी के तीन महीने बाद ही दोनों के बीच झगड़ा रहने लगा। आरोपित उसके साथ मारपीट करने लगा। उसे बीमारी की हालत में घर से बाहर निकाल दिया गया। पीड़िता का कहना है कि आरोपितों ने सोची समझी साजिश के तहत कमलजीत को केस से बरी कराने के लिए उसके साथ धोखाधड़ी की। मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारियों ने आरोप सही पाए जाने पर दोनों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।

 

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Vikas Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!