जागरण संवाददाता, लुधियाना। Dengue Cases in Ludhiana: डेंगू ने शहर में पैर पसारने शुरू कर दिए तो प्रशासन भी हरकत में आने लगा है। निगम व सेहत विभाग ने संयुक्त टीमें बनाकर लारवा की जांच करनी शुरू कर दी। लेकिन निगम व सेहत विभाग की यह कार्रवाई अभी नाकाफी साबित हो रही है। शनिवार को कैबिनेट मंत्री भारत भूषण आशु ने सेहत विभाग और नगर निगम के अफसरों की संयुक्त मीटिंग मेयर कैंप आफिस में बुलाई। मंत्री ने दोनों विभागों के अफसरों से डेंगू का फीडबैक लिया और उनकी जमकर क्लास लगाई। मंत्री ने सेहत विभाग व नगर निगम को मिलकर डेंगू से लड़ने के निर्देश दिए।

वहीं मंत्री ने निगम अफसरों से फागिंग शेड्यूल मांगा और निगम की फागिंग को नाकाफी बताते हुए इसे डबल करने के आदेश दिए। अब वार्ड में पार्षद हैंडी मशीनों से दिन में दो बार फागिंग करेंगे, वहीं बड़ी मशीनें अब सप्ताह में एक के बजाए दो दिन फागिंग करेंगी। इसके लिए अफसरों ने शेड्यूल तैयार कर दिया और सुबह व शाम दो शिफ्टों में फागिंग मशीनें चलाने का फैसला किया।

आशु ने नगर निगम सेहत ब्रांच व ओएंडएम सेल के अफसरों को भी हिदायतें दी हैं कि वह रोजाना शेड्यूल के मुताबिक फागिंग करें। शहर में अगर कहीं पानी जमा है तो सेहत ब्रांच इसकी सूचना ओएंडएम सेल के अफसरों को देंगे। ताकि वह उस पानी की निकासी का प्रबंध करें। सेहत विभाग की टीम जहां जहां पानी जमा होगा वहां पर दवाई का छिड़काव करेंगी।

मंत्री ने एडीशनल कमिश्नर आदित्य कुमार व ज्वाइंट कमिश्नर अंकुर महेंद्रू को आदेश दिए हैं कि वह निजी तौर पर इसकी मानिटरिंग करें। इसके अलावा चारों जोनों के जोनल कमिश्नर अपने अपने जोनों में फागिंग व डेंगू के बचाव से संबंधित गतिविधियों पर नजर रखने के आदेश दिए।

यह भी पढ़ें-Vegetable Prices in Navratri: लुधियाना में टमाटर और प्याज के दाम डेढ़ गुना बढ़े, 100 रुपये किलाे बिक रही शिमला मिर्च

 

Edited By: Vipin Kumar