जेएनएन, खन्ना। एशिया की सबसे बड़ी अनाज मंडी खन्ना में धान की खरीद का जायजा मंगलवार को खाद्य व आपूर्ति मंत्री भारत भूषण आशु ने लिया। इस दौरान वे आढ़तियों से खुलकर मिले, लेकिन मंडी में धान बेचने आए किसानों से कोई बात उन्होंने नहीं की। वे एक ढेरी की बोली करा और आढ़तियों से बैठक कर निकल गए। इस दौरान उन्होंने आढ़तियों के हक में खुलकर समर्थन का ऐलान भी किया।

मार्केट कमेटी दफ्तर में मंत्री आशु ने आढ़तियों के साथ बातचीत करते कहा कि जब तक पंजाब में कांग्रेस की सरकार है, आढ़तियों को कोई खतरा नहीं है। आढ़तियों के बिना किसानों और सरकार का गुजारा नहीं है। कांग्रेस सरकार की तरफ से हमेशा की तरह आढ़ती वर्ग का ख्याल रखा जाएगा। आशू ने कहा कि केंद्र सरकार की तरफ से पंजाब सरकार की 1100 करोड़ की अदायगी रोकी हुई है पर सरकार आढ़तियों के साथ खड़ी है। आढ़ती एसोसिएशन की तरफ से आशू को सम्मानित भी किया गया।

इस मौके सांसद डॉ. अमर सिंह, विधायक गुरकीरत सिंह कोटली, विधायक अमरीक सिंह ढिल्लों, विधायक लखवीर सिंह लक्खा, हरदेव सिंह रोशा, हरबंस सिंह रोशा, रुपिन्दर सिंह राजा गिल, यादविंदर सिंह लिबड़ा, सुखविन्दर सिंह चीमा, अजमेर सिंह पूरबा आदि उपस्थित थे।

सरकारी कांटे का ही होगा इस्तेमाल

हेराफेरी करने के मकसद के साथ मंडियों में सरकारी कांटे पर तुलाई नहीं करने के सवाल पर मंत्री आशु ने कहा कि इस सम्बन्धित सख्त हिदायतें दी जाएंगी। गाड़ियां सरकारी गाड़ियां पर ही तोली जाएंगी। ऐसा न करन वालों के खिलाफ सख्ती बरती जाएगी। लेबर टेंडरों में सरकारी रेट की अपेक्षा दोगुने रेट वाले को ठेका देने के सवाल पर मंत्री आशु ने कहा कि टेंडरों की सारी प्रक्रिया ओनलाइन होती है। इसमें कोई कुछ गलत नहीं हो सकता।

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!