डेढ़ साल के भीतर लुधियाना को कार्गो सहित एयरपोर्ट हलवारा में मिलने जा रहा है। 16 हजार सीसीटीवी कैमरों से पुलिस शहरियों की सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता बनाएगी। ई-चालान के जरिए ट्रैफिक चालान भुगतान आसान होगा तो नासूर बन चुके बुढ्ढे नाले की समस्या का समाधान एक साल के भीतर हो जाएगा। दैनिक जागरण द्वारा होटल पार्क प्लाजा में आयोजित माय सिटी माय प्राइड फोरम के तहत जिले की नुमाइंदगी करते सांसद रवनीत सिंह बिट्टू, मेयर बलकार सिंह संधू, पुलिस कमिश्नर डॉक्टर सुखचैन सिंह गिल, एडीसीपी ट्रैफिक एसएस बराड़ और विधायक कुलदीप सिंह वैद्य ने सवालों के तथ्यों सहित जवाब देते हुए यह जानकारी दी।

मुद्दाः औद्योगिक रूप से मजबूत होने के बावजूद यहां पर एयरपोर्ट की कमी महसूस की जाती है। एयरपोर्ट के होने से शहर का विकास और तेजी से गति पकड़ेगा।

सांसद रवनीत सिंह बिट्टू ने कहा कि हलवारा एयरबेस को कार्गो सहित पब्लिक एयरपोर्ट बनाने संबंधी एयरफोर्स की मंजूरी मिल गई है। अब एयरपोर्ट अथॉरिटी ने पंजाब सरकार से 100 एकड़ जमीन मांगी है, जिसके लिए डिप्टी कमिश्नर प्रदीप अग्रवाल एयरबेस के आसपास की जमीन भी देख चुके हैं। उम्मीद है डेढ़ साल के भीतर हलवारा एयरपोर्ट पब्लिक सर्विस में आ जाएगा। सफाई देते हुए बिट्टू ने कहा कि साहनेवाल एयरपोर्ट के रनवे विस्तार के लिए जमीन ही उपलब्ध नहीं है। लंबे समय से हलवारा के लिए पैरवी की जा रही थी। एयरफोर्स की एनसीओ के लिए कानून आड़े आ रहे थे। अब बाधाएं हट चुकी हैं। जल्द ही लुधियानवियों को अपना एयरपोर्ट मिल जाएगा।

मुद्दाः शहर की सबसे बड़ी बुड्ढा नाला समस्या का हल निकालने की जरूरत है। इसमें गंदगी के कारण पूरे शहर की आबोहवा खराब हो रही है। बड़े पैमाने पर अभियान चलाकर इसे साफ करना चाहिए।

मेयर बलकार सिंह संधू ने कहा कि प्रदेश सरकार इसके लिए प्रोजेक्ट तैयार कर चुकी है। इसका प्रदूषण कम करने के लिए जिला प्रशासन के साथ मिलकर नगर निगम ने दस करोड़ की लागत का प्रोजेक्ट तैयार किया है, इसके तहत नीलो नहर का पानी इसमें डालकर इसका प्रदूषण स्तर कम किया जाएगा।

मुद्दाः जल का संकट लगातार बढ़ता जा रहा है। इस समय बारिश के पानी का संचयन समय की मांग है। इसको हार्वेस्टिंग सिस्टम के लिए रिचार्ज वेल बनाकर किया जा सकता है।
मेयर बलकार सिंह ने कहा कि इसके लिए रेजीडेंट सोसायटी की मदद ली जा रही है। नगर निगम अपने बलबूते पर इसे पूरा नहीं कर सकता। लगातार गहरा रहे इस संकट के प्रति लोगों को जागरुक करने के साथ-साथ रेजीडेंट सोसायटी और मार्केट एसोसिएशन से संपर्क किया जा रहा है। ताकि इसका समाधान निकाला जा सके।

मुद्दाः शहर के अंदर कचरा मैनेजमेंट के लिए विशेष योजना की जरूरत है। इससे बीमारियों से बचाव हो सकेगा। हर साल सीजनल बीमारियों, मसलन डेंगू डायरिया, मलेरिया और मौसमी फ्लू का सामना करना पड़ता है। यदि इन बीमारियों को फैलने से रोकने के लिए समय पर आवश्यक कदम उठाए जाए तो उस पर अंकुश लग सकता है।
मेयर बलकार सिंह ने कहा कि स्वच्छता के प्रति लोग भी जागरूक हुए है। हमने भी कई इलाकों में रात को सड़कों की सफाई करवाने की व्यवस्था की है। आने वाले दिनों में इस प्रोजेक्ट के तहत सफाई होने वाले इलाकों का दायरा बढ़ाने की योजना लगभग तैयार है।

मुद्दाः शहर में आवारा पशु एक बड़ी समस्या बन गए हैं। अक्सर लोग इन आवारा पशुओं से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हो जाते हैं। कईयों की जान भी चली जाती है।
मेयर बलकार सिंह संधू ने कहा कि गौ-धन के लिए कई गौशालाएं सहयोग कर रही हैं। नगर निगम इसके लिए भुगतान भी कर रहा है। नगर निगम अपने स्तर पर इस समस्या से निपटने के लिए तैयारी कर रहा है।

मुद्दाः शहर की खूबसूरती को बढ़ाने की जरूरत है। ताकि अगर कोई व्यक्ति दूसरे शहर से आए तो तारीफ किए बिना नहीं रह सके। चौराहों और शहर की सार्वजनिक दीवारों को सजाने की आवश्यकता है।
शहर की सुंदरता को बढ़ाने के लिए माय सिटी माय प्राइड फोरम में चर्चा हुई तो संभव फाउंडेशन के राहुल वर्मा ने इसकी जिम्मेदारी ली। उन्होंने कहा कि उनकी संस्था सार्वजनिक दीवारों पर पेटिंग्स बनाने की मुहिम चलाने जा रही है। इसमें सिटी के ऐतिहासिक पहलुओं के साथ साथ लोगों को स्वच्छता के प्रति संदेश भी दिए जाएंगे।

मुद्दाः शहर को स्किल डेवलपमेंट पर खासा ध्यान देना चाहिए, जिसमें लोगो को रोजगार मिल सके और उद्योगों को प्रशिक्षत लोगों की कमी न हो।
सांसद रवनीत सिंह बिट्टू ने कहा कि युवाओं को रोजगार के साथ स्वरोजगार के भी मौके उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। इसके लिए प्रदेश सरकार ने कई स्किल सेंटर बनाए हैं, जहां पर बड़ी संख्या में युवक-युवतियां ट्रेनिंग ले रही हैं। वहीं कॉरपोरेट घरानों के सहयोग से और भी ट्रेनिंग सेंटर बनाए जा रहे हैं।

मुद्दाः शहर के ऑटो और डीजल से चलने वाले वाहन बहुत अधिक प्रदूषण पैदा करते हैं। इससे बचने के लिए शहर में सीएनजी पंप खोले जाने की आवश्यकता है।
वाहनों के बढ़ रहे प्रदूषण से दूषित हो रही शहर की आबोहवा से चिंतित विधायक कुलदीप सिंह वैद्य ने कहा कि सीएनजी पंप लगाए जा रहे हैं। लोगों को साइकिलिंग के अलावा सीएनजी युक्त वाहन उपयोग करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।

मुद्दाः बस अड्डा शहर के बीचोबीच है, जिससे बहुत से वाहन शहर में आते हैं। इनके कारण शहर की हवा खराब हो रही है। इसको शिफ्ट करने की जरूरत है।
शहर की चरमराई ट्रैफिक व्यवस्था के जवाब में विधायक सुरिंदर डावर ने कहा कि बस अड्डे को शहर से बाहर ले जाने की प्रक्रिया जारी है। इससे सिटी में दाखिल होने वाली तीन हजार बसों की वजह से लगने वाले ट्रैफिक जाम से निजात मिलेगी।

मुद्दाः सरकारी स्कूलों में सुविधाओं का अभाव है। इसके कारण बच्चे स्कूलों में अच्छी शिक्षा प्राप्त नहीं कर पा रहे हैं।
विधायक सुरिंदर डावर ने कहा कि इलाके के स्कूलों की नुहार बदलने के लिए कई प्रोजेक्ट लाए जा रहे हैं। इसके लिए एनजीओ और कॉरपोरेट घरानों की मदद भी ली जा रही है।

मुद्दाः शहर में सुरक्षा व्यवस्था में सुधार के लिए सीसीटीवी लगाना जरूरी है। ताकि अपराधों पर अंकुश लगाने में पुलिस को मदद मिल सके।
पुलिस कमिश्नर डॉ. सुखचैन सिंह गिल ने कहा कि शहर में 16 हजार सीसीटीवी लगाए जाने का प्रोजेक्ट चल रहा है। इन में से एक हजार कैमरे तो वर्किंग कंडीशन में हैं। वहीं शहर में लगे 16 हजार सीसीटीवी कैमरों को कंट्रोल रूम से जोड़ा जा रहा है। अभी भी अधिकतर क्राइम केसों का निपटारा इन्हीं कैमरों की मदद से हो रहा है।

By Nandlal Sharma