जासं, लुधियाना : टिब्बा रोड पर स्थित गुरमेल पार्क गली नंबर 3 में शनिवार की सुबह एक व्यक्ति ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। इससे पहले उसने अपने हाथ-पांव को चाकू से कुरेदा। परिजनों को जब पता चला तो इसकी सूचना कंट्रोल रूम पर दी। मौके पर पहुंची थाना टिब्बा की पुलिस ने मृतक सुरजीत सिंह उर्फ जीता (33) के शव को कब्जे में लेकर सिविल अस्पताल में रखवा दिया। पुलिस को सुसाइड नोट भी मिला है, जिसकी जांच पुलिस कर रही है।

पुलिस के मुताबिक सुरजीत सफाई कर्मचारी का काम करता था। वो शादीशुदा है और उसकी सात साल की बेटी है जो अपने दादा-दादी के साथ दूसरे घर में रहती है जबकि सुरजीत पत्नी के साथ किराये पर रहता था। उसकी पत्नी गर्भवती थी। 4 दिन पहले जब उसकी डिलीवरी हुई तो बच्चे की मौत हो गई। इसके अगले ही दिन सुरजीत के ससुराली अपनी बेटी को लेकर चले गए और उन्होंने थाने में शिकायत कर दी थी। तब से सुरजीत परेशान चल रहा था।

शनिवार की सुबह सुरजीत की मां रानी उसे फोन कर रही थी, पर वो नहीं उठा रहा था। मां उसके घर आई तो दरवाजा बंद था। उसने धक्का देकर दरवाजा खोला तो अंदर कमरे में पंखा लगाने के लिए बने हुक में दुपंट्टा बांधकर सुरजीत ने फंदा लगाया हुआ था। मां घबराकर चिल्लाई और इसकी सूचना पुलिस को दी। इसके बाद थाना टिब्बा की पुलिस मौके पर पहुंची और जांच शुरू की। पैंसिल से लिखा सुसाइड नोट, जांच को भेजा लैब

पुलिस को मौके पर पहुंचकर कमरे में शव के पास आधे कागज पर लिखा सुसाइड नोट मिला। इसमें सिर्फ एक लाइन ही लिखी थी कि 'जनानी दे दुखों जिंदगी अपणी खत्म कर लई'। पुलिस ने सुसाइड नोट को कब्जे मे लेकर लैब में जांच के लिए भेज दिया है। इसकी रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई आगे बढ़ाई जाएगी। चाकू से कुरेदे हाथ-पांव

पुलिस के मुताबिक आत्महत्या से पहले सुरजीत ने खुद के हाथ-पांव को चाकू से कुरेद रखा था। पुलिस को दोनों जगह निशान मिले हैं। फिलहाल इसका भी पता पोस्टमार्टम के बाद चलेगा कि उसने खुद चाकू मारे है या फिर किसी और ने। कोट्स----

शव को कब्जे मे लेकर सिविल अस्पताल में रखा गया है। सुसाइड नोट को लैब में जांच के लिए भेजा जा रहा है। फिलहाल सुरजीत की मां रानी के बयानों पर 174 के तहत कार्रवाई की गई है। रिपोर्ट आने के बाद धारा में इजाफा किया जा सकता है।

-सोमनाथ, जांच अधिकारी थाना टिब्बा

Posted By: Jagran