सत्येन ओझा, मोगा। फिल्म अभिनेता सोनू सूद ने आखिरकार पिछले कई महीनों से चल रही अटकलों को विराम देते हुए अपनी छोटी बहन मालविका सूद सच्चर की 2022 के विधानसभा चुनाव मोगा सीट से लड़ने की घोषणा कर दी। फिल्म अभिनेता सोनू सूद ने रविवार को अपने आवास पर मीडिया की मौजूदगी में ये घोषणा की। पार्टी के सवाल पर उन्होंने कहा कि उद्देश्य अच्छा हो तो पार्टियां मायने नहीं रखती हैं, समय आने पर 10 दिन में बता दिया जाएगा कि किस पार्टी से चुनाव लड़ना है।

बहन के चुनाव लड़ने की घोषणा के दौरान सोनू सूद ने आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल व पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी दोनों की कार्यशैली की प्रशंसा की। सोनू सूद ने कहा कि मालविका सूद तीन सूत्रीय फार्मूले के आधार पर चुनाव मैदान में उतरेंगी, शिक्षा, स्वास्थ्य एवं रोजगार। साथ ही ये भी स्पष्ट कर दिया कि फिलहाल उनका खुद का राजनीति में आने का कोई इरादा नहीं है। सोनू सूद ने कहा कि सूद फाउंडेशन ट्रस्ट के माध्यम से मालविका सूद पहले से ही लगातार समाज सेवा के काम कर रही हैं, राजनीति में भी सेवा का उद्देश्य लेकर चुनाव लड़ेंगी।

बढ़ी सक्रियता से लगने लगे थे कयास

कोरोना संक्रमण के दूसरे दौर में जिस प्रकार से मालविका सूद की समाजसेवा के क्षेत्र में सक्रियता बढ़ी थी, तभी से ये चर्चा शुरू हो गई कि मालविका राजनीति में प्रवेश करेंगी। खुद सोनू सूद ने भी संकेत दे दिया था कि अच्छे उद्देश्य के साथ अगर मालविका राजनीति में आना चाहें तो उनका स्वागत किया जाना चाहिए।

बदलेंगे स्थानीय राजनीति के समीकरण

मालविका सूद किस पार्टी से चुनाव लड़ेंगी, इस पर सस्पेंस अभी बरकरार है, लेकिन ये तय है कि मालविका के चुनाव मैदान में कूदने से शहर की राजनीति के समीकरण पूरी तरह बदल जाएंगे। ज्यादा संभावना ये मानी जा रही है कि मालविका कांग्रेस पार्टी से चुनाव लड़ें। मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी मोगा में 25 नवंबर को पहुंच रहे हैं, ऐसे में अब हर किसी की नजर मुख्यमंत्री के दौरे पर रहेगी। संभावना व्यक्त की जा रही है कि उस दिन मालविका सूद को कांग्रेस में शामिल करने की आधिकारिक घोषणा कर दी जाए।

मोगा शहर विधानसभा सीट से इस समय डा. हरजोत कमल विधायक हैं। मालविका को अगर कांग्रेस पार्टी टिकट देती है तो डा. हरजोत कमल खेमा मालविका का सर्मथन करेगा, इसकी संभावना कम है। इसकी बड़ी वजह है कि डा. हरजोत कमल ने जब सोनू सूद के घर को जाने वाली सड़क का नाम उनकी मां प्रो. सरोज सूद के नाम पर रखा था, तब खुद सोनू सूद ने मुंबई में रहते हुए डा. हरजोत कमल के कामकाज की तारीफ करते हुए अपने शहर पहुंचने पर उनके साथ उसी रोड पर सेल्फी लेने का वादा किया था, लेकिन ये वादा आज तक पूरा नहीं सका है। भले ही डा. हरजोत कमल खुलकर इस पर नहीं बोल रहे, लेकिन कहीं न कहीं इस बात को लेकर नाराजगी उनके मन में है।

अकेले कांग्रेस ही नहीं, दूसरे दलों पर भी मालविका के चुनाव मैदान में आने का असर पड़ना तय है। जिस प्रकार के संकेत सोनू सूद ने दिए हैं उससे इस बात की संभावना भी बनी हुई है कि वे आम आदमी पार्टी से चुनाव लड़ें। इन सारे कयासों के बीच में शहर की राजनीति के समीकरण पूरी तरह बदलना तय है। बहरहाल सभी दावेदारों को उनके अगले कदम का इंतजार है, पार्टी तय होने के बाद ही असल तस्वीर सामने आएगी।

कौन हैं मालविका सूद

मालविका सूद फिल्म अभिनेता सोनू सूद की दो बहनों में छोटी बहन हैं। लाजपत राय ग्रुप आफ इंस्टीट्यूट से एमसीए की डिग्री हासिल करने के बाद मालविका सूद ने साफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में जाब किया, बाद में मोगा में अपने पति गौतम सच्चर के साथ बालीवुड इंग्लिश एकेडमी की स्थापना की। वर्तमान में वे इसी एकेडमी को संचालित कर रही हैं।

Edited By: Kamlesh Bhatt