जागरण संवाददाता, लुधियाना। किसानों के साथ समझौता होने के बाद आखिरकार 449 दिन के बाद वीरवार को जीटी रोड पर लाडोवाल टोल प्लाजा (Ladowal Toll Plaza) शुरू हो गया। दोपहर करीब डेढ़ बजे के बाद से टोल (Toll) की वसूली शुरू कर दी गई। इसके तहत कारों (Cars) से एक तरफ के 135 रुपये और अप-डाउन के 200 रुपये रुपये वसूल किए जा रहे हैं। इससे साफ है कि अब लुधियाना से जालंधर की तरफ आने-जाने वाले वाहन चालकों की जेब ढीली होने लगी है। टोल प्लाजा (Toll Plaza) के प्रबंधक सरफराज खान ने दोपहर बाद से टोल वसूली शुरू करने की पुष्टि की है। तीन कृषि सुधार कानूनों (Farm Laws) को लेकर किसानों के विरोध के चलते सात अक्तूबर 2020 को टोल प्लाजा को बंद कर दिया गया था। तब से किसान वहां पर धरना लगा कर बैठे थे।

इसके बाद श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाश पर्व पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने तीनों कृषि सुधार कानूनों को रद करने का एलान किया। संसद (parliament) में संवैधानिक कार्रवाई के बाद इन कानूनों को रद भी कर दिया गया। किसान संगठनों (Farmers Organization) ने दिल्ली की सीमाओं (Delhi Border) समेत अन्य स्थानों से धरने उठा लिए और कई जगहों पर टोल वसूली शुरू हो गई। लाडोवाल टोल प्लाजा पर किरती किसान यूनियन (Kirti Kisan Union) के बैनर तले किसानों का धरना लगातार जारी था। बुधवार की रात किसानों एवं नेशनल हाईवे अथारिटी (NHAI) के बीच समझौता हुआ। इसके बाद किसानों ने अपना धरना समाप्त करने का एलान कर दिया। यूनियन के जिला प्रधान संतोख सिंह संधू ने कहा कि टोल प्रबंधन ने किसानों की मांगों के अनुसार लिखित में समझौता किया है।

टोल कर्मियों के वेतन में 10 फीसद इजाफा

इसके तहत टोल प्लाजा (Toll Plaza) कर्मियों के वेतन में 10 फीसद का इजाफा किया जाएगा। इसके अलावा टोल पर हर वक्त एंबुलेंस और जेसीबी मौजूद रहेगी। साथ ही स्पीड ब्रेकरों को सही कर व्हीकल फ्रेंडली बनाया जाएगा। अभी तीखे स्पीड ब्रेकर पर उछल कर भारी वाहनों को नुकसान होता है। प्रबंधन से यह भी लिखकर लिया कि लंबे समय से धरना दे रहे किसानों ने टाेल के सामान का कोई नुकसान नहीं किया। अब शीघ्र ही किसानों की कमेटी समझौते की शर्ताें पर अमल का जायजा लेने के लिए टोल प्लाजा का दौरा करेगी।

Edited By: Vipin Kumar