जागरण संवाददाता, लुधियाना। Punjab Weather Alert! अगस्त में शांत रहने के बाद सितंबर में मानसून झूमकर बरस रहा है। पंजाब में पिछले तीन दिनों से लगातार बारिश हो रही है। रविवार को भी मानसून ने बरसने में कोई कसर नहीं छोड़ी, जिसकी वजह से लुधियाना, जालंधर और फरीदकाेट सहित कई शहर जलमग्न हो गए। जलभराव ने लोगों की परेशानी को बढ़ा दिया है। हालांकि बारिश की वजह से पारा गिरने की वजह से लोगों को गर्मी से राहत मिली।

पंजाब के कई जिलों में अधिकतम तापमान सामान्य से पांच से आठ डिग्री सेल्सियस तक कम रहा, वहीं न्यूनतम तापमान भी सामान्य से दो से तीन डिग्री कम रहा। कई जिलों में तो दिन व रात के तापमान में महज दो से तीन डिग्री का ही फर्क रहा। उधर भारी बारिश की वजह से किसानों की चिंता भी बढ़ गई है। क्योंकि खेतों में खड़ी धान की फसल को अब बारिश की जगह धूप की जरूरत है। इंडिया मेट्रोलाजिकल डिपार्टमेंट चंडीगढ़ के अनुसार पंजाब में 24 घंटे के दौरान सबसे अधिक बारिश अमृतसर में रिकार्ड की गई। जहां 151 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की गई, जबकि यहां अधिकतम तापमान 26.5 डिग्री रहा, जो कि सामान्य से आठ डिग्री कम था।

वहीं बल्लोवाल सेखड़ी में 16.4 मिलीमीटर बारिश हुई और अधिकतम तापमान 30.5 डिग्री रहा, जो कि सामान्य से तीन डिग्री कम था। चंडीगढ़ में 0.7 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की गई, जबकि अधिकतम तापमान 29.3 डिग्री रहा, जो कि सामान्य से चार डिग्री कम था। लुधियाना में भी दिन भर रूक रूक कर हल्की बारिश जारी रही। इंडिया मेट्रोलाजिकल डिपार्टमेंट चंडीगढ़ के पूर्वानुमान की मानें तो साेमवार को भी पंजाब के कई जिलों में भारी बारिश हो सकती है। जबकि कुछ जिलों में हल्की से दरमियानी बारिश और कई जिलों में केवल बादल छाए रहने और बूंदाबांदी की संभावना है।

 यह भी पढ़ें-   जालंधर में बेटे से गलत काम करने वाला व्यापारी गिरफ्तार, पत्नी पर बनाता था वाइफ स्वैपिंग का दबाव

 

Edited By: Vinay Kumar