जागरण संवाददाता, लुधियाना। महानगर में पिछले दो दिन से मानसून मेहरबानी दिखा रहा है। मंगलवार की सुबह 5 बजे ही बादलों ने शहर को अपनी आगोश में लिया और फिर जमकर बारिश हुई। सुबह पांच से साढ़े छह बजे तक हल्की बारिश हो रही थी, उसके बाद तेज बारिश शुरू हो गई। लगातार हो रह बारिश से अभी शहर का मौसम कूल कुल हो गया है। एक ओर जहां लोगों ने गर्मी से राहत महसूस की, वहीं कई इलाकों में जलभराव की समस्या भी पैदा हो गई है। जिससे लोगों का घर से निकलना भी मुश्किल हो गया है।

लुधियाना का रेखी सिनेमा चौक में बारिश के पानी में धंसा ट्रक। (जागरण)

इससे पहले सोमवार को भी बारिश के बाद अधिकतम तापमान 27.9 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया, जबकि न्यूनतम तापमान 24.5 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। अधिकतम और न्यूनतम तापमान में मात्र 1.8 डिग्री सेल्सियस का अंतर था। पंजाब कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विभाग की वरिष्ठ वैज्ञानिक डा. केके गिल का कहना है कि पहली बार है कि हल्की बारिश से भी दिन का तापमान इतना नीचे आया हो। हालांकि पहले भी जुलाई में अधिकतम तापमान 25 से 27 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचा है लेकिन उस समय लगातार कई दिन बारिश होने के बाद ऐसा होता था।

लुधियाना सब्जी मंडी के बाहर जीटी रोड हुआ जलमग्न। (जागरण)

वर्ष 2005 में पांच जुलाई को दिन का तापमान 25.5 डिग्री था। उस समय तीन दिन में लगातार 199 मिलीमीटर बारिश हुई थी। वर्ष 2010 में भी पांच और 19 जुलाई को दिन का तापमान 27.4 डिग्री सेल्सियस रहा था। उस समय शहर में पांच दिन में 156.2 एमएम बारिश हुई थी। पिछले साल आठ जुलाई को अधिकतम तापमान 27.6 डिग्री सेल्सियस हो गया था और उस समय भी पांच दिन में करीब 141.4 एमएम बारिश हुई थी। उनका मानना है कि इस बार ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि मानसून का सिस्टम काफी स्ट्रांग था।

जुलाई में अब तक चार साल में सबसे कम बारिश

लुधियाना में तेज बारिश से सड़कें जलमग्न। (जागरण)

इस साल एक से 19 जुलाई के बीच में मात्र 72.2 मिलीमीटर बारिश हुई है। जुलाई में सामान्य तौर पर 216 मिलीमीटर बारिश होती है। पिछले चार साल में जुलाई में अब तक सबसे कम बारिश हुई है।

Edited By: Vikas_Kumar