जागरण संवाददाता, लुधियाना : पीटीयू की ओर से मांगें माने जाने के बाद जीएनई कॉलेज के विद्यार्थियों ने बुधवार शाम को स्ट्राइक खत्म कर दी। इससे पहले सुबह दूसरे दिन भी कॉलेज के बाहर विद्यार्थियों ने प्रदर्शन कर रोष जताया।

विद्यार्थियों ने चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक उनकी समस्या का समाधान नहीं होगा तब तक वे क्लासिस नहीं लगाएंगे। यहां तक कि विद्यार्थियों ने पीटीयू जाकर प्रदर्शन करने की बात भी कही। विद्यार्थियों ने कॉलेज के ऑफिस, क्लास रूम और मेन गेट में ताला लगा दिया था। हालांकि यह प्रदर्शन विद्यार्थियों ने शांतिपूर्ण किया और ताला लगा चले गए। उधर, बुधवार ही कॉलेज के प्रिंसिपल सहजपाल सिंह और दस विद्यार्थियों की पीटीयू में डीन एकेडमिक्स के साथ मीटिंग हुई। शाम तक मीटिंग जारी रही, जिसमें विद्यार्थियों के हित में फैसला लिया गया। इसके बाद विद्यार्थियों ने स्ट्राइक खत्म करने की घोषणा की।

प्रिंसिपल सहजपाल सिंह ने कहा कि जालंधर में पीटीयू के अधिकारियों के साथ हुई मीटिंग में विद्यार्थियों के हित में फैसला लिया गया है। रेलेटिव ग्रेडिंग के तहत लिए गए तीन सेमेस्टर को पीटीयू ने एबसोल्यूट ग्रेडिंग में बदलने की बात कही है। बता दें कि विद्यार्थियों ने यह स्ट्राइक पीटीयू के ग्रेडिंग सिस्टम में बदलाव को लेकर की थी, क्योंकि 2015 में जब विद्यार्थियों ने कॉलेज में दाखिला लिया था तो उस दौरान ऑटोनोमस कॉलेज में रेलेटिव ग्रेडिंग चल रही थी जबकि अन्य में एबसोल्यूट ग्रेडिंग की जा रही थी। तीन सेमेस्टर तक तो पीटीयू ने रेलेटिव ग्रेडिंग की थी और जब पीटीयू को लगा कि यह ग्रेडिंग काम नहीं कर रही है तो इसे बंद कर एबसोल्यूट ग्रेडिंग देनी शुरू कर दी थी। विद्यार्थी यही मांग कर रहे थे कि पीटीयू ने जो एबसोल्यूट ग्रेडिंग शुरू की है तो रेलेटिव ग्रेडिंग में लिए गए तीन सेमेस्टर्स को भी एबसोल्यूट में किया जाए।

Posted By: Jagran