जागरण संवाददाता, लुधियाना। Punjab Power Crisis: पंजाब सरकार के बिजली संकट से निजात दिलाने के दावे के बीच महानगर में बिजली गुल होने के कारण शहरवासी परेशान हैं। लोगों का कहना है कि अघोषित बिजली कटौती से पेयजल संकट गहरा गया है। थांदला रोड इलाका और नूरवाला रोड, बसंत विहार कालोनी में बुधवार शाम से ही बिजली कट लगने से जनता बेहाल है। पेयजल संकट हो जाने से लोग मुश्किल में हैं। जलीलपुर रोड स्थित अमरजीत कालोनी में भी बिजली गुल होने के कारण लोग पेयजल संकट से जूझ रहे हैं।

ढंडारी कलां में बिजली गुल होने के कारण श्रमिकों को पानी नहीं मिल रहा है। टंडारी कलां के दुर्गा कॉलोनी निवासी अखिलेश राय, अमित कुमार, जगतार सिंह, विक्रमजीत सिंह ने कहा कि इस एरिया में नाम मात्र ही बिजली रहती है। केवल जरूरत का ही पानी मिलता है। मक्कड़ कालोनी के सुभाष सिंगला, संदीप पवार आदि ने कहा कि बिजली गुल होने के बाद कई घंटों तक बिजली नहीं आती है। पावरकाम आफिस में शिकायत करने पर लाइनमैन जल्द मौके पर नहीं आते हैं। लोगों ने कहा कि बिजली की आंखमिचौनी से वह परेशान हो चुके हैं।

लोग बोले- 1912 पर नहीं हो रही सुनवाई

यहां के बलदेव ने कहा कि बिजली गुल हो जाने से जरूरी काम ठप हो गए हैं। माडल कालोनी के सुखदेव सिंह,  वरिंदर सिंह,  रामनारायण, जुनैद आदि ने कहा कि उनके कालोनी में अक्सर बिजली गुल होती है। यहां भयंकर गरीबी में रहते लोग परेशान हैं। उन्होंने कहा कि बिजली गुल होने की शिकायत 1912 पर करने पर भी सुनवाई नहीं होती है। पावरकाम के लोकल दफ्तर में फोन करने पर फोन नहीं उठाता है।

बिजली कटौती पर पावरकाम के चीफ इंजीनियर भूपेंद्र सिंह खोसला ने कहा कि तकनीकी गड़बड़ी के कारण बिजली की सप्लाई में मुश्किल आ रही है। विभाग के कर्मचारी बिजली आपूर्ति बहाल करने में जुटे हैं। वहीं, कुछ इलाकों में फीडर सर्विस के लिए कट लगाए जाते हैं।

यह भी पढ़ें - BSF मामले में विरोध तेज, अकाली दल का चंडीगढ़ में राजभवन के आगे धरना, सुखबीर बादल गिरफ्तार

Edited By: Pankaj Dwivedi