संस, लुधियाना : श्री आत्मानंद जैन सभा एवं श्री विमलनाथ जैन श्वेतांबर मंदिर संचालन समिति वल्लभ नगर के संयोजन में गच्छाधिपति, जैनाचार्य श्रीमद् विजय धर्मधुरंधर सूरीश्वर महाराज साहिब के आज्ञानुवर्ती गणिवर्य श्री धर्मरत्न विजय म.सा. आदि ठाणा-2 की पावन निश्रा में जैन उपाश्रय, वल्लभ नगर में भाद्रपद मास का संक्रांति महोत्सव बड़े हर्षोल्लास पूर्वक मनाया गया। कार्यक्रम में वक्तव्य प्रतियोगिता हुई, जिसमें अनेक प्रतियोगियों ने अपने व्यक्तव्य रखे। इसका निरीक्षण पल्लवी जैन और शिल्पी जैन ने किया और विजेताओं को पुरस्कार वितरित किए गए।

गणिवर्य श्री म.सा. ने अपने प्रवचन में फरमाया कि अकबर प्रतिबोधक जगत गुरु श्री हीरसूरि म.सा. की आज पुण्यतिथि है। आचार्य श्री हीरसूरि म.सा. ने मांसाहारी मुगल राजा का मांसाहार अपने उपदेश से छुड़वा दिया था। ऐसे वाक्सिद्ध पूज्य आचार्य महाराज को नमन है। मुनि श्री धर्मबोधि विजय म.सा. ने कहा कि आत्म-विश्वास का होना सफलता की पूंजी है। इस दौरान सुशील जैन 'मोही वाले', देवराज जैन, तमन्ना जैन, शिखा जैन ने अपने भजन गायन से समारोह में उपस्थित जनसमुदाय को मंत्रमुग्ध कर दिया। इस अवसर पर अध्यक्ष भारत भूषण जैन भारती ने कहा कि 26 सितंबर को पर्वाधिराज पर्युषण पर्व के अंतर्गत साधर्मिक वात्सल्य एस.ए.एन जैन स्कूल, दरेसी के प्रांगण में होगा। इसका लाभ श्री शादी लाल विजय कुमार सतीश कुमार भूषण जैन अश्विनी जैन (बिट्टु) इन्द्रपाल जैन, अभिनव जैन, शुभम जैन राम नगर वाले परिवार वीएसआर ओसवाल, वीएसआर क्लेक्शन ने प्राप्त किया है। संक्रांति महोत्सव में साधर्मिक भक्ति का लाभ श्री शांति प्रकाश अरुण कुमार जैन (बबला), अभिषेक जैन, संभव जैन, रिक्षित जैन शांति आर्मी स्टोर ने प्राप्त किया। समारोह का मंच संचालन राकेश जैन ने किया।

इस अवसर पर अध्यक्ष भारत भूषण जैन 'भारती', संरक्षक पद्म जैन •ाीरा वाले, महामंत्री संजीव जैन 'दुग्गड़', वल्लभ नगर मंदिर संयोजक रमेश जैन, सह-संयोजक अशोक जैन, अश्विनी जैन बिट्टु, अरुण जैन बबला, राजीव जैन, अशोक जैन, किचलू नगर मंदिर संयोजक विजय कुमार जैन आदि महानुभाव उपस्थित थे।

Edited By: Jagran