संस, लुधियाना : एसएस जैन स्थानक सिविल लाइंस में श्रमण संघीय प्रवर्तक डा. राजेंद्र मुनि, साहित्य रत्न सुरेंद्र मुनि ठाणा-2, श्रमण संघीय सलाहकार डा. दिनेश मुनि, ठाणा-3 के सानिध्य में धर्म सभा जारी है। इस अवसर पर जैनम जैन की गुड तोलन की रस्म अदा धर्म परिवार से अरिदमन जैन, शशि जैन परिवार ने निभाई। इस अवसर पर आयोजित सभा में डा. राजेंद्र मुनि महाराज ने कहा कि साधु के जीवन में धैर्य , तपस्या, सेवा समता व प्रवचन कला आदि के विशेष गुणों का होना आवश्यक है। इन गुणों के अभाव में साधना का निखार नहीं हो पाता है। उन्होंने ने कहा उक्त चारों श्रमण व श्रमणी विद्धतरत्न और लोक अनुकम्पा के भाव से युक्त है। जग में इनका नाम श्रद्धा, उच्चता व आदर के साथ लिया जाता है। तप साधना के द्वारा इन्होंने कर्मों पर विजय प्राप्त करके आत्म दर्शन का परिचय प्राप्त किया। डा. दिनेश मुनि महाराज ने कहा कि संत का जीवन दीये की भांति मिथ्यात्व व अज्ञान अंधकार से लड़ते हुए प्रकाशमय होता है। यदि बेवजह हवा उसे बुझाना भी चाहे तो संत कभी विचलित नहीं होता। वह स्व-पर प्रकाशक होकर अपने लक्ष्य के प्रति निर्भयता से बढ़ता रहता है। इस अवसर पर पुष्पेंद्र मुनि महाराज ने कहा कि केसर रस्म का आयोजन 16 जनवरी को सुबह बजे आरंभ होगा। इसका लाभ संसारिक परिवार से अंजू, अशोक बंसल, डा. अरुण बंसल परिवार अंबाला कैंट वालों ने लिया।

इस अवसर पर मानव रत्न रामकुमार जैन, सभाध्यक्ष अरिदमन जैन्, चेयरमैन जितेंद्र जैन, सीनियर उपाध्यक्ष सुभाष जैन, महामंत्री प्रमोद जैन, कोषाध्यक्ष रजनीश जैन गोल्ड स्टार, नीलम जैन कंगारु, विजय जैन जैन पैकेवल, फूलचंद जैन शाही लिवास, विपन जैन महावीर, संजय जैन, अजय जैन, सुशील कौड़ा, मुकेश जैन आदि सदस्यगण शामिल थे।

Edited By: Jagran