लुधियाना, जेएनएन। नेशनल हाईवे नंबर 44 पर शहर के बीच में एंट्री व एग्जिट प्वाइंट नहीं हैं। इस वजह से नेशनल हाईवे का निर्माण कार्य पूरा होने के बाद शहर में ट्रैफिक समस्या पैदा हो जाएगी, क्योंकि शहर का पूरा ट्रैफिक ढंडारी से लेकर टाइगर सफारी तक सर्विस लेन पर आ जाएगा। नेशनल हाईवे 44 का शहरवासियों को भी फायदा मिले, इसके लिए ट्रैफिक विशेषज्ञों ने शहर में भी एंट्री व एग्जिट प्वाइंट रखने की मांग रखी थी। इसके बाद मंत्री भारत भूषण आशु, मेयर बलकार सिंह संधू व अन्य प्रतिनिधियों ने एनएचएआइ के चेयरमैन से बैठक की। सोमवार को नेशनल हाईवे 44 के प्रोजेक्ट डायरेक्टर योगेश शर्मा ने विशेषज्ञों के साथ हाईवे का जायजा लिया। टीम ने शेरपुर चौक, ओसवाल अस्पताल चौक व जालंधर बाईपास के पास एंट्री और एग्जिट की संभावनाओं का सर्वे किया और उसके बाद डीसी के साथ बैठक की।

टिब्बा रोड व ताजपुर रोड पर भी लंबे समय से अंडरपास की मांग की जा रही है। हलका पूर्वी के विधायक संजय तलवाड़ इस बारे में कई बार मांग उठा चुके हैं। सोमवार को डायरेक्टर ने ट्रैफिक कंसल्टेंट के साथ इन दोनों सड़कों का भी दौरा किया। इसके बाद यहां पर भी अंडरपास, एलिवेटिड रोड या दो पुल बनाए जाने की संभावनाओं की जांच की। डायरेक्टर अब इस बारे में चेयरमैन के सामने रिपोर्ट रखेंगे और उसके बाद ड्राइंग में बदलाव कर यहां भी रास्ता मिलने की संभावना है। जानकारी के अनुसार डायरेक्टर ने डीसी को बताया कि एंट्री और एग्जिट प्वाइंट को लेकर दो सप्ताह में रिपोर्ट दे दी जाएगी। डायरेक्टर योगेश शर्मा ने बताया कि सर्वे किया गया है। सर्वे के बाद जो कुछ संभव होगा उसे लागू कर दिया जाएगा।

जगराओं पुल का स्ट्रक्चर होने लगा डाउन

जगराओं पुल का स्ट्रक्चर अब कांट्रेक्टर ने डाउन करना शुरू कर दिया। अगले दो से तीन दिनों में स्ट्रक्चर को पिलर पर फिट कर दिया जाएगा। उधर कांट्रेक्टर ने पुल की सपोर्ट के लिए लगाए गए टेंपरेररी स्ट्रक्चर को हटा लिया है। अब जल्द ही पुल के ऊपर शटरिंग करवा दी जाएगी।

 

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Vikas Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!