जागरण संवाददाता, लुधियाना : दीवाली के बाद शहर में लगे कूड़े के अंबार को साफ करवाने के लिए मेयर बलकार सिंह संधू शुक्रवार को पूरे दिन सड़कों पर घूमते रहे। मेयर ने डेढ़ दर्जन से अधिक सेकेंडरी कूड़ा डंपों पर जाकर निगम कर्मियों से कूड़ा उठवाया। निगम कर्मी देर रात 11 बजे तक कूड़ा लिफ्ट करते रहे और साथ के साथ अफसर वाट्सएप के जरिए मेयर को अपडेट देते रहे। वहीं दूसरी तरफ कूड़ा लिफ्ट करने वाली कंपनी एटूजेड ने भी पूरे दिन युद्ध स्तर पर कूड़े की लिफ्टिंग की। इसके बावजूद शहर में कूड़े के ढेर खत्म नहीं हो सके। शनिवार को भी कंपनी के साथ-साथ निगम के कर्मचारी भी कूड़ा लिफ्टिंग में जुटे रहे। निगम अफसरों की मानें तो रविवार शाम तक पूरे शहर से पुराना कूड़ा लिफ्ट कर दिया जाएगा और उसके बाद रूटीन आने वाला कूड़ा रह जाएगा। दीवाली के आसपास कूड़े की आमद 1800 टन के करीब पहुंच जाती है। दीवाली व विश्वकर्मा के दिन नियमित तौर पर कूड़े की लिफ्टिंग न होने से सेकेंडरी कूड़ा डंपों पर करीब 4000 टन कूड़ा एकत्रित हो गया था, जिसमें से शुक्रवार को नगर निगम व कंपनी ने मिलकर करीब 1800 टन कूड़ा उठा दिया। कंपनी अधिकारियों के मुताबिक उन्होंने 1450 टन के करीब कूड़ा लिफ्ट किया, जबकि निगम कर्मियों ने करीब 350 टन के करीब कूड़ा उठाया। इस काम के लिए कंपनी के 30 टिप्पर और नगर निगम के 12 टिप्पर लगाए गए थे। वहीं शनिवार को भी नगर निगम की टीमें कूड़ा लिफ्टिंग में जुटी रहीं। मेयर बलकार सिंह संधू का कहना है कि दीपावली के बाद शहर में कूड़ा बड़ी मात्रा में जमा हो गया था, जिसकी वजह से शुक्रवार को निगम ने अपनी मशीनरी भी उतार दी। उन्होंने कहा कि रविवार तक शहर से पूरा कूड़ा लिफ्ट करवा दिया जाएगा।

Posted By: Jagran