जागरण संवाददाता, लुधियाना। प्लास्टिक लिफाफों का विकल्प अब महिला कैदियों द्वारा बनाए गए कपड़े के बैग बनने जा रहे हैं। इसके लिए महिला केंद्रीय जेल में कैदी इस पर काम कर रही हैं। उनके द्वारा बनाए बैग जल्द ही लघु सचिवालय और अन्य जगहों पर बिकने शुरू हो जाएंगे। इसके लिए बाकायदा तौर पर लघु सचिवालय में स्टाल भी लगाया जा रहा है।

जिला अदालतों में जायजा लेने पहुंची थीं जज रीतू

महिला जेल में चलाए जा रहे इस प्रोजेक्ट का पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट कम प्रबंधकीय जज सेशन डिवीजन की रीतू बाहरी ने दौरा भी किया और बैग का जायजा लिया। वह यहां जिला अदालतों में जायजा लेने के लिए पहुंची हुई थीं। उनकी तरफ से लुधियाना कचहरी कांपलेक्स में त्रिवैणी और अन्य अलग किस्मों के 200 पौधे लगाए गए। जज ने झुग्गी झोपड़ी में रहते बच्चों से भी बातचीत की और उन्हें खाने पीने का सामान बांटा।

विशेष मैगा कैंप कोर्ट का भी किया गया आयोजन

उनकी तरफ से केसों की जानकारी लेने के लिए ई-सेवा केंद्र का भी जायजा लिया गया। सचिव जिला कानूनी सेवाएं आथारिटी रमन शर्मा ने बताया कि केंद्रीय जेल में एक विशेष मैगा कैंप कोर्ट का भी आयोजन किया गया। जज मिस रीतू बाहरी की तरफ से इस मैगा कैंप का निरीक्षण भी किया गया।

केंद्रीय जेल में स्पेशल कोर्ट, केसों का मौके पर ही निपटारा

इसके अलावा 8 ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट साहिबान की तरफ से केंद्रीय जेल में स्पेशल कोर्ट लगाकर छोटे जुर्मों के अधीन बंद 51 हवाातियों द्वारा अपने जुर्म को कबूल करने के साथ भविष्य में ऐसी गलती नहीं करने का आश्वासन दिलाने पर उनके केसों का मौके पर ही निपटारा कर दिया गया।

यह भी पढ़ेंः- Ludhiana Weather Update: शहर में बदला मौसम का मिजाज, सुबह से छाए बादल; वर्षा के आसार

यह भी पढ़ेंः- Breaking: पूर्व विधायक व शराब कारोबारी दीप मलहोत्रा के फरीदकोट आवास पर ईडी की रेड, मचा हड़कंप

Edited By: Deepika

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट