जागरण संवाददाता, लुधियाना। ढंडारी की शिव कॉलोनी के पास लिफाफे में रखा गया नवजात मिला है, जिसे वहां से गुजर रही महिला ने उठाया और इस संबंधी पुलिस को सूचित किया है। पुलिस ने बच्चे को सिविल अस्पताल में पहुंचाया है, यहां पर डॉक्टर उसे प्राथमिक जांच के बाद तंदरुस्त बताया है। चौकी कंगनवाल पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

जानकारी के अनुसार देर रात करीबन साढ़े आठ बजे शिव कालोनी की रहने वाली सुनैना कुमारी छोटी बहन के साथ फैक्टरी में काम निपटाकर वापस घर जा रही थी। इसी दौरान उसने जंगलात एरिया से बच्चे के रोने की आवाज सुनी और वहीं रुक गई और बहन को परिवार के सदस्यों को लेकर आने को कहा। कुछ ही समय के बाद उसके परिजन मौके पर पहुंचे और जंगल में जाकर देखा तो सफेद लिफाफे में बच्चा लिपटा रो रहा था, उसके तन पर कपड़े तक नहीं थे। वह बच्चे को अपने घर ले गए, इसके बाद पुलिस को इसकी सूचना दी गई तो चौंकी कंगनवाल प्रभारी एएसआइ जोगिंदर सिंह और ड्यूटी अफसर बलजीत सिंह ने बच्चे को कब्जे में लिया और उसे सिविल अस्पताल में दाखिल करवाया।

बच्चे को कूड़े से उठाने वाले परिवार ने पुलिस को बताया कि जिस लिफाफे में बच्चा लिपटा हुआ था वह किसी दुकान का प्रिंटिड था। मगर उन्होंने इस तरफ ध्यान नहीं दिया और उसे वहीं पर फेंक कर घर आ गए। पुलिस अब उस लिफाफे को तलाश करेगी ताकि इससे कोई सुराग हाथ लग सके।

मामला दर्ज कर जांच में जुटी पुलिस

एएसआइ बलजीत सिंह का कहना है कि थाना साहनेवाल में आपराधिक मामला दर्ज कर लिया गया है। बच्चे के माता-पिता की तलाश की जाएगा। बच्चा एक दिन का ही लग रहा है। हो सकता है कि किसी महिला ने बच्चे को जन्म देकर वहां छोड़ दिया हो। हम सेहत विभाग से डाटा लेंगे कि पिछले समय के दौरान कितनी महिलाएं प्रेगनेंट हुई हैं।