जागरण संवाददाता, लुधियाना : रेलवे कंसलटेटिव कमेटी नार्दन रेलवे के सदस्य डा. विवेक शुक्ला सोमवार की सुबह औचक निरीक्षण के लिए लुधियाना के रेलवे स्टेशन पर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने रेलवे स्टेशन के चप्पे-चप्पे की जानकारी हासिल की और खामियों को देखकर संबंधित विभाग के अधिकारी को खूब लताड़ा। निरीक्षण के दौरान सबसे पहले वह रिजर्वेशन काउंटर पर पहुंचे जहां पर देखा कि काउंटर के अंदर निजी लोग घूम रहे हैं। इस पर उन्होंने रिजर्वेशन काउंटर के अधिकारियों को लताड़ा और कहा कि रेलवे नियमों के मुताबिक गैर कर्मी अंदर कैसे घुस गए। इसके बाद रेलवे स्टेशन की बाउंड्री पर उन्होंने अवैध कब्जों को लेकर भी अधिकारियों की क्लास लगाई।

इसके पश्चात रेलवे परिसर में जगह-जगह दो पहिया वाहनों की पार्किंग पर भी उन्होंने जमकर क्लास लगाई। उन्होंने कहा कि जब पार्किंग बनाई गई हैं, तो लापरवाही से जगह-जगह पर वाहन क्यो पार्क किए गए हैं। इस दौरान उन्होंने रेलवे के अधिकारियों के वाहन खड़े होने पर उनके भी चालान कटवाए। इसके बाद जब वे रेलवे स्टेशन में दाखिल होने लगे तो स्टेशन पर लगा एक्सीलेटर बंद होने पर उन्होंने अधिकारियों से पूछा। अधिकारियों ने जवाब दिया कि बिजली ना होने की वजह से बंद पड़ा है। इस पर उन्होंने कहा कि यह आपकी जिम्मेदारी बनती है कि जनरेटर से किसी भी तरह से इसे चलाया जाए। उन्होंने कहा कि अगर एक्सीलेटर बंद ही रहता है, तो रेलवे को करोड़ों रुपये लगाने की क्या जरूरत है। इस दौरान उन्होंने प्लेटफार्म पर जाकर खाने की क्वालिटी को भी चेक किया। इसके साथ ही रेलवे स्टेशन में एंट्री के लिए कई गेट होने पर भी ऐतराज जताया। उन्होंने कहा कि रेलवे कालोनी का भी दौरा करेंगे जहां से शिकायत आ रही है कि कालोनी के घर रहने लायक नहीं है। इस दौरान उन्होंने रेलवे गोदाम के पास हुए कब्जे भी हटवाए। जीआरपी थाने के कर्मचारियों ने थाने का भवन जर्जर होने के साथ साथ इसमें थोड़ी सी बरसात के दौरान पानी घुस जाने की बात कही। इसके साथ ही रेलवे अस्पताल में डाक्टर के बीस मिनट तक न आने पर फिरोजपुर मंडल अधिकारी को इसकी शिकायत की गई। वे ढंडारी रेलवे स्टेशन के दौरे पर भी जाएंगे और मंगलवार को भी लुधियाना में रहकर आसपास के स्टेशनों का दौरा करेंगे। अपनी सारी रिपोर्ट केंद्रीय रेल मंत्रालय को सौंपेंगे।

Edited By: Jagran