जगराओं (लुधियाना), जेएनए। बुधवार सुबह 10 बजे नजदीक गांव कोठे खंजुरा में भतीजे ने कुल्हाड़ी से हमला कर अपने सगे ताया को मौत के घाट उतार दिया। वारदात अंजाम देने के बाद वह खुद जाकर थाने में पेश हो गया। हालांकि पुलिस ने इसे लेकर चुप्पी साथ ली है। 

45 वर्षीय आरोपित वीरेंद्र सिंह की बहन छिंदर कौर की ऑस्ट्रेलिया में कुछ दिन पहले मौत हो गई थी। इसका अफसोस जाहिर करने के लिए उसके ताया गुरदयाल सिंह (80) छोटे भाई हरदयाल सिंह के घर आए थे। उस समय उसके पास गांव से कुछ अन्य लोग भी अफसोस करने के लिए बैठे हुए थे। जब वह लोग उनके घर से चले गए तो वीरेंद्र सिंह ने कुल्हाड़ी से अपने गुरदयाल सिंह के सिर और गर्दन पर कई वार कर डाले। हमले में वह बुरी तरह घायल हो गया और मौके पर ही गिर गया। उन्हें पहले जगराओं के प्राइवेट अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने उसे लुधियाना रेफर कर दिया। रास्ते में गुरदयाल सिंह की मौत हो गई।

गुरदयाल सिंह गांव कोठे खंजुरा में भतीची की मौत पर अफसोस जाहिर करने गया था। वहां भतीजे ने कुल्हाड़ी से हमला कर उसकी हत्या कर दी।

सूत्रों के अनुसार वीरेंद्र सिंह इस वारदात को अंजाम देने के बाद खुद ही थाने जाकर पेश हो गया, जहां पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया। हालांकि थाना सिटी के प्रभारी निधान सिंह ने विरेंद्र सिंह के खुद पेश होने की पुष्टि नहीं की।

आरोपित वीरेंद्र की मानसिक स्थिति ठीक नहीं

गांव वालों का कहना है कि आरोपित वीरेंद्र सिंह पिछले काफी समय से मानसिक रूप से परेशान है। इसी परेशानी के चलते ही उसने इस वारदात को अंजाम दिया है। उसके चार बेटियां हैं। बड़ी बेटी की उम्र 15 वर्ष के करीब है।

 

 

 

 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!