जागरण संवाददाता, खन्ना : समराला के गांव बौंदली की एक महिला ने भारतीय किसान यूनियन के प्रधान बलबीर सिंह राजेवाल के बेटे तेजिदर सिंह तेजी पर जमीन कब्जाने का आरोप लगाया है। महिला ने खन्ना में एसएसपी दफ्तर के बाहर पहुंचकर मीडिया से बात की और कार्रवाई की मांग उठाई। दूसरी तरफ तेजी ने महिला द्वारा लगाए गए आरोपों को सिरे से नकार कर उन्हें राजनीति से प्रेरित करार दिया है।

महिला सरबजीत कौर ने बुधवार को गांव के सरपंच के पति जसमेल सिंह व अन्य गांववासियों के साथ एसएसपी खन्ना को शिकायत सौंपी। इसके बाद सरबजीत कौर ने बताया कि 1996 के बाद से राजेवाल का परिवार उनकी जमीन पर शैलर का पानी फेंक रहा था। यहां तक कि शैलर का गेट भी उनकी जमीन पर है। उन्हें लगातार धमकियां मिल रही हैं। महिला ने कहा कि अब वे उनसे जबरन जमीन खरीदना चाहते हैं। पुलिस का दबाव भी बनाया जा रहा है। सरपंच के पति जसमेल सिंह ने कहा कि राजेवाल का परिवार महिला से धक्केशाही कर रहा है। उन्हें इंसाफ मिलना चाहिए। इस अवसर पर भाकियू खोसा के जिला प्रधान दर्शन सिंह, ब्लाक प्रधान सिरनजोत सिंह, बलजीत सिंह, सुखचैन सिंह बौंदली, पंच हरविदर सिंह, हरसिमरनजीत सिंह, जगजीत सिंह भी मौजूद रहे।

तेजिंदर तेजी ने नकारे आरोप

बलबीर राजेवाल के पुत्र तेजिदर सिंह तेजी राजेवाल ने आरोपों को सिरे से नकारते हुए झूठा करार दिया है। उन्होंने कहा कि कईं दशकों से उनका शैलर चल रहा है। उन्होंने किसी की एक इंच जमीन पर भी कब्जा नहीं किया। पटवारी से निशानदेही करवाने के बाद छह इंच जमीन छोड़ कर दीवार खड़ी की है। यह सब राजनीतिक लोगों की उनके खिलाफ साजिश है।

Edited By: Jagran