जागरण संवाददाता, खन्ना : हलका पायल के गांव धमोट कलां निवासी जगदेव सिंह उर्फ काला की हत्या के मामले में पायल पुलिस को सफलता मिली है। पुलिस ने मामले को सुलझा कर दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस की जांच में सामने आया कि आरोपितों ने केवल इसी कारण जगदेव की हत्या कर दी थी कि उसने आरोपितों को खेतों में भांग रगड़ते देख कर रोका था। आरोपित नशे के आदी हैं। जगदेव की बात सुनकर उन्होंने उसकी हत्या कर शव नहर में फेंक दिया। 16 तारीख से लापता जगदेव का शव पुलिस ने वीरवार को ही जरग गांव के पास नहर से बरामद किया था।

वीरवार को प्रेस कांफ्रेंस में डीएसपी पायल हरसिमरत सिंह ने बताया कि आरोपितों की पहचान लवप्रीत सिंह उ़र्फ बबलू और जगदीप सिंह उ़र्फ जग्गू दोनों निवासी गांव धमोट कलां के रूप में हुई है।

पुलिस को शिकायतकर्ता दलविदर सिंह ने बताया था कि उसका भाई जगदेव सिंह 16 अगस्त को शाम करीब 6 बजे अपने मोटरसाइकिल पर अपने खेतों की मोटर पर जानवरों के लिए चारा लेने गया था। उसके बाद से वापिस घर नहीं आया। इस दौरान जब उसने खेतों की मोटर पर जाकर देखा तो उसका भाई वहां मौजूद नहीं था। वहां उसकी एक चप्पल पड़ी थी तथा उसका मोबाइल भी धान के खेतों के किनारे पर पड़ा था।

खेतों की मोटर के सामने लगे मिर्ची के पौधे के पास उसे खून के निशान मिले थे। खून के छींटे नहर तक जा रहे थे। पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज करते हुए जांच शुरू कर दी थी। डीएसपी हरसिमरत सिंह ने आगे बताया कि एक टीम का गठन कर मामले को मात्र 24 घंटे में सुलझा लिया गया। मामले में आरोपित लवप्रीत सिंह उ़र्फ बबलू के खिलाफ पहले भी आपराधिक मामले दर्ज हैं। उनसे पूछताछ की जा रही है।

Edited By: Jagran