जागरण संवाददाता, खन्ना : हरियाणा के लकड़ी व्यापारी से लाखों रुपये लूटने की तैयारी कर रहे एक गिरोह के तीन सदस्यों को खन्ना पुलिस ने लूटने से पहले ही काबू कर लिया। आरोपितों के कब्जे से पुलिस ने देसी कट्टे, कारतूस और तेजधार हथियार बरामद किए हैं। गिरोह के तीन सदस्य फिलहाल पकड़ से बाहर हैं।

एसपी (आइ) मनप्रीत सिंह ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि गिरोह से दो देसी पिस्तौल, कारतूस, दो किरच बरामद की गई हैं। डीएसपी आई मनमोहन सरना, सीआइए इंचार्ज गुरमेल सिंह और एसआइ विजय कुमार की टीम ने सूचना के आधार पर आरोपितों विनोद कुमार निवासी गांव प्योदा, थाना कैथल, हरियाणा, सोनू मलिक निवासी विकास नगर, पानीपत, हरियाणा को काबू किया। उनसे पूछताछ के आधार पर संदीप उर्फ दीपी निवासी विकास नगर, पानीपत को सरहिद बस स्टैंड से काबू किया गया। एसपी ने बताया कि गिरोह के तीन अन्य सदस्य दीपक व तेसा निवासी गढ़ी, पानीपत हरियाणा और गुल्लू निवासी कृष्णपुरा, पानीपत अभी फरार है। उनकी तलाश की जा रही है। आरोपितों ने पूछताछ के दौरान बताया कि लकड़ी के बड़े कारोबारी अमित गुप्ता निवासी कैंथल अपने मुनीम तुषार के साथ पंजाब से पेमेंट इकट्ठी करने आए थे। उन्हें खन्ना के न•ादीक लूटने की स्कीम बनाई थी। विनोद कुमार कुछ समय पहले अमित गुप्ता के पास ड्राइवर की नौकरी करता था और हर सप्ताह मुनीम तुषार के साथ पंजाब में पेमेंट इकट्ठी करने आता था। इसलिए विनोद को इस बात का पता था कि उनके पास बड़ी रकम होती है। हरियाणा के गैंग के तीन आरोपित काबू, तीन अभी फरार है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!