जागरण संवाददाता, खन्ना: मंगलवार शाम को अचानक मौसम बारिश की आहट से खन्ना अनाज मंडी में किसानों के बीच अफरा-तफरी का माहौल पैदा हो गया। मंडी में फसल को ढकने के लिए आढ़ती, किसान और मजदूर तिरपाल लेकर भागते नजर आए। किसानों में डरावने मौसम के इस बदलाव को देख वे सहम गए। हालांकि बारिश न होने से किसानों ने राहत की सांस ली।

गौर हो कि रविवार सुबह भी आसमान में काले बादलों की आवाजाही रहने से बरसात की आशंका दिखाई दे रही थी, हालांकि मंडी में अभी ज्यादा गेहूं नहीं पहुंचा है, लेकिन खेतों में लहलहाती फसल की ¨चता भी किसानों को अब सताने लगी है। मंडी में मार्केट कमेटी की तरफ से पुख्ता प्रबंधों का दावा किया जा रहा है। सचिव दल¨वदर ¨सह ने बताया कि आढ़तियों के पास तिरपाल की कमी नहीं है। मंडी के शेड भी पर्याप्त हैं। इसलिए घबराने की जरूरत नहीं है।

मंडी में अब तक 1360 ¨क्वटल खरीद

खन्ना अनाज मंडी में अब तक कुल 6400 क्विंटल गेहूं की फसल पहुंची है। इसमें से 1360 क्विंटल गेहूं की खरीद कर ली गई है। प्राप्त आंकड़ों के अनुसार, पनग्रेन ने 700 ¨क्वटल, मार्कफेड ने 450 क्विंटल और पनसप ने 130 ¨क्वटल गेहूं खरीदा है। निजी व्यापारियों ने 80 ¨क्वटल गेहूं ही खरीदा है। मंडी में इस समय 5040 ¨क्वटल गेहूं की फसल बिकने के इंतजार में पड़ी है। पिछले साल अब तक 32 हजार 240 ¨क्वटल गेहूं की आमद खन्ना मंडी में हो चुकी थी। इसमें से 21 हजार 600 ¨क्वटल गेहूं बिक गया था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!