जागरण संवाददाता, खन्ना : फ्रेंचाइजी खोलने के नाम पर धोखाधड़ी करके 21 लाख रुपये ठगने का मामला सामने आया है। सिटी पुलिस ने इस संबंध में एक महिला सहित चार लोगों को नामजद किया गया है। फिलहाल किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। पुलिस ने ये मामला गुरमुख ¨सह निवासी खन्ना खुर्द, खन्ना की शिकायत की पड़ताल के बाद दर्ज किया।

आरोपितों में कमलजीत कौर चाहल, चाहल हाउस, सूलर कालोनी पटियाला, विक्रमजीत ¨सह चौहान निवासी अलीपुर राईआं, पटियाला, गुरचैन ¨सह निवासी बासीअर्क और मुकेश कुमार निवासी बासीअर्क, संगरूर के खिलाफ आईपीसी की धारा 420, 120 के अंतर्गत मामला दर्•ा किया गया है।

गुरमुख ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि अप्रैल 2016 में विक्रमजीत ¨सह, गुरचैन ¨सह और मुकेश कुमार उसके पास आए। जिन्होंने अपनी कंपनी द्वारा आयुर्वेदिक दवाएं और गैस सेफ्टी डिवाइस का बिजनेस करने के लिए उसे कहा और कंपनी की सीएमडी कमलजीत कौर से बात कराई।

उन्होंने उसे अपने पटियाला आफिस और कमलजीत कौर के घर भी बुलाया और उसे झांसे में ले लिया। इस दौरान आरोपितों ने उसे कहा कि एक कंट्रैक्ट किया जाएगा। जिसमें 28 अप्रैल 2016 से 28 फरवरी तक कंपनी के सभी प्रोडक्ट लगातार देने का वादा किया गया। जिसके बदले बतौर सिक्योरिटी 21 लाख रुपये मांगे गए। उसने दो दुकानों को एक किया और रेनोवेशन पर काफी खर्च किया। फिर 13 मई 2016 को फ्रेंचाइजी एग्रीमेंट किया।

गुरमुख ¨सह ने सिक्योरिटी के नाम पर 21 लाख रुपये दे दिए। जिसमें से 17 लाख बैंक खाते से ट्रांसफर किए और तीन लाख रुपये 28 अप्रैल 2016 को नकद दे दिए। जिसकी उन्होंने रसीद भी दी। मुहूर्त पर भी 80 हजार खर्च हुए। 20 हजार वे मुहूर्त वाले दिन नकद ले गए। व्यापार बंद होने की सूरत में 21 लाख रुपये ब्याज सहित लौटाने का एग्रीमेंट किया गया था। वह कंपनी की दवाएं और गैस सेफ्टी डिवाइस 13 मई 2016 से 8 नवंबर 2016 तक उसे भेजते रहे। उसके बाद उन्होंने समान भेजना बंद कर दिया। जिसके चलते उसने 21 लाख रुपये लौटाने के लिए कहा तो वे टालमटोल करते रहे। अब उन्होंने अपना आफिस भी बंद कर दिया है। गुरमुख ने आरोप लगाया कि आरोपितों ने एक सोची समझी साजिश के तहत धोखाधड़ी की है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!