जागरण संवाददाता, खन्ना : आम आदमी पार्टी से राज्यसभा सदस्य और पंजाब के पूर्व प्रभारी संजय ¨सह ने कांग्रेस पर दो तरह के बयान दिए। उन्होंने पंजाब सरकार को फेल बताते हुए केंद्र में न्यूनतम साझा कार्यक्रम बनाकर साथ मिलकर चुनाव लड़ने की बात कह डाली। रविवार को खन्ना दौरे पहुंचे राज्यसभा सदस्य ने कहा कि नरेंद्र मोदी और भाजपा को हराने के लिए समूचे विपक्ष को एक जुट होना पड़ेगा। इसके बाद उन्होंने देश की प्रमुख विपक्षी पार्टी व पंजाब सरकार के खिलाफ बयान जारी कर दिया। उन्होंने कहा कि अन्ना हजारे ने दिल्ली में आंदोलन के दौरान सभी दलों के आने पर रोक लगाई थी। इस कारण आप के नेता वहां नहीं गए। अन्ना से कोई मतभेद नहीं है। संजय ¨सह ने सीबीएसई पेपर लीक मामले में भी केंद्र सरकार को घेरा। उन्होंने इसे सरकार की नाकामी बताया। संजय ने मलेरकोटला रोड पर काफी देर तक वर्करों से बातचीत भी की। आप के कानूनी सेल के राष्ट्रीय अध्यक्ष हिम्मत ¨सह शेरगिल, ब्लाक प्रधान मलकीत ¨सह मीता, एडवोकेट व¨रदर डेविट, राजबीर शर्मा, लक्ष्मण ¨सह, तरणजीत ¨सह, भाग ¨सह, भू¨पदर ¨सह, डॉ. सु¨रदर ¨सह, सुरजीत ¨सह, ज्योति ईसडू, आरएस गिल, तरसेम कोहली, कमलजीत ¨सह, बालकृष्ण बाली भी मौजूद रहे। माफी प्रकरण पर टालने की कोशिश

संजय ¨सह ने केजरीवाल द्वारा बिक्रम मजीठिया समेत कई नेताओं से माफी मांगने के प्रकरण पर पहले सवाल टालने की कोशिश की और फिर बोले, केजरीवाल के बारे में कुछ नहीं कह सकता हूं, लेकिन वे कभी भी मजीठिया से माफी नहीं मांगेंगे। उन्होंने विक्रमजीत ¨सह मजीठिया पर एक बार फिर आक्रामक होते हुए कहा कि पहले बिट्टू औलख, जगदीश भोला के बयान व अब एसटीएफ की रिपोर्ट यह साबित करती है कि पंजाब में नशा तस्करी मजीठिया के इशारे बिना संभव नहीं थी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!