जागरण संवाददाता, लुधियाना। Ludhiana Improvement Trust Scam: इंप्रूवमेंट ट्रस्ट की कालोनियों में प्लाट आवंटन में हुई धांधली के आरोप में नामजद पूर्व चेयरमैन रमन बाला सुब्रामण्यम वीरवार को विजिलेंस की जांच में शामिल नहीं हुए। हाईकोर्ट से राहत मिलने के बाद से विजिलेंस अधिकारी उनका इंतजार कर रहे हैं। सूत्रों के अनुसार विजिलेंस जल्द उन्हें जांच में शामिल होने के लिए नोटिस जारी कर सकती है।

कार्रवाई करने से सात दिन पहले देना होगा नोटिस

गौरतलब है कि, पंजाब व हरियाणा हाईकोर्ट ने बीते मंगलवार को रमन बाला सुब्रामण्यम को विजिलेंस की जांच में शामिल होने की शर्त के साथ राहत दी थी। हाईकोर्ट ने विजिलेंस को निर्देश दिया था कि पूर्व चेयरमैन के खिलाफ कार्रवाई करने से सात दिन पहले उसे नोटिस देना होगा।

करीब दो माह से जांच में जुटी हुई है विजिलेंस

इस राहत के बाद उम्मीद बंधी थी कि अब रमन लुधियाना लौट आएंगे और जांच में शामिल हो जाएंगे। दो दिन बाद भी वे विजिलेंस से दूर हैं। विजिलेंस ने बीती 28 जुलाई को केस दर्ज किया था। सात लोग अब तक गिरफ्तार किए जा चुके हैं, जबकि रमन सहित चार अधिकारी फरार हैं। विजिलेंस करीब दो माह से जांच में जुटी हुई है।

हाईकोर्ट के निर्देश पर कर रहे अमल: एसएसपी

एसएसपी विजिलेंस रविंदरपाल सिंह संधू का कहना है कि हाईकोर्ट ने रमन बाला सुब्रामण्यम को नोटिस देने के निर्देश दिए हैं। हम इस पर अमल करेंगे।हम उनका जांच में शामिल होने का इंतजार कर रहे हैं। अगर वे नहीं आते हैं तो जल्द नोटिस भेजा जाएगा।

27 जुलाई को दर्ज किया था गया मामला

बता दें कि विजिलेंस ने पूर्व मंत्री भारत भूषण आशु के खासमखास रहे रमन बाला सुब्रामण्यम के खिलाफ 27 जुलाई को मामला दर्ज किया था। इस केस में पूर्व चेयरमैन के साथ ईओ कुलजीत कौर, ओएसडी अंकित नारंग, क्लर्क प्रवीण कुमार, गगनदीप सिंह और संदीप शर्मा को नामजद किया गया था।

यह भी पढ़ेंः- Ludhiana Weather Update: मौसम ने बदली करवट, शहर में सुबह से हो रही झमाझम वर्षा; 16 डिग्री तक पहुंचा तापमान

Edited By: Deepika