जासं, लुधियाना : कानून के रखवालों को डेंगू मच्छर के डंक से बचाने के लिए शुक्रवार को सेहत विभाग की टीम डीआइजी दफ्तर, थाना सदर व वुमेन सेल में पहुंची। डिस्ट्रिक्ट एपिडेमोलॉजिस्ट डॉ. रमेश कुमार के नेतृत्व में एंटी लार्वा की टीम ने इन जगहों पर मच्छरों के ब्रीडिंग प्वाइंट चेक किए। टीम ने गमले, कूलर, कंटेनर व सकोरे में जमा पानी की बारीकी से जांच की। जहां एडल्ट मच्छर दिखाई दिए, जिसके बाद डॉ. रमेश कुमार ने डीआइजी दफ्तर व थाना सदर के स्टाफ को डेंगू मच्छर से बचाव की जानकारी व पोस्टर दिए। डॉ. रमेश ने बताया कि उनकी टीम हर शुक्रवार को ड्राई डे के तहत सरकारी व गैर सरकारी विभागों में जाकर लार्वा ढूंढती है। लार्वा को मौके पर ही नष्ट करती है, जिसके बाद नगर निगम को चालान के लिए लिखा जाता है। उन्होंने कहा कि यह अभियान डेंगू मच्छर को पैदा होने से रोकने के लिए चलाया जा रहा है। यदि लोग केवल एक दिन अपने घरों व कार्यालयों में लगे कूलरों को साफ करें, गमलों में पानी जमा न होने दें और घरों के छतों पर टूटे बर्तन व डिब्बे, ड्रम व अन्य तरह का सामान रखना बंद कर दें, तो डेंगू मच्छर से बचाव हो सकता है। छोटी-छोटी सावधानियां अपनाने की जगह लोग लापरवाही बरतते हैं और खुद व दूसरे को डेंगू बुखार की चपेट में लाते हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!