जागरण संवाददाता, लुधियाना : फूड एंड ड्रग कमिश्नर काहन सिंह पन्नू की ओर से शनिवार को पंजाब के हलवाइयों को दी गई चेतावनी के बाद रविवार को पंजाब हलवाई एसोसिएशन भी सामने आ गई है।

एसोसिएशन के प्रांतीय प्रधान नरिंदरपाल सिंह ने कहा कि सभी हलवाइयों को संदेह की नजर से देखना उचित नहीं है, क्योंकि हलवाइयों ने बरसों की मेहनत से अपने ग्राहकों में विश्वास बनाया होता है। न¨रदरपाल ने कहा कि फूड कमिश्नर पन्नू की ओर से हलवाइयों के खिलाफ दिया गया बयान उनमें डर का माहौल पैदा कर रहा है। इस तरह हलवाइयों के लिए काम करना मुश्किल हो जाएगा। उन्होंने कहा कि हलवाई एसोसिएशन सिर्फ फेस्टिवल सीजन में ही नहीं बल्कि हमेशा मिलावट को खत्म करने में सरकार का सहयोग करने को राजी है। मिलावटी या सब स्टैंडर्ड मिठाई बेचकर अपना नाम खराब क्यों करेंगे। पिछले वर्षो में ज्यादातर मिलावट के मामले पकड़े गए हैं, जिनमें वह लोग थे जिनका हलवाई के कारोबार से कोई संबंध नहीं था। बल्कि वह फेस्टिवल सीजन में मिठाइया बनाकर सप्लाई करने वाले थे। ऐसे लोगों के पकड़े जाने से सभी हलवाइयों को मिलावटखोर मान लेना उचित नहीं है। उन्होंने कहा कि पंजाब में हलवाइयों के पास अपने संसाधन हैं, जिनसे वह खोया तैयार करते हैं। पंजाब में हलवाई बाहरी राज्यों से खोया नहीं मंगवाते हैं। नरिंदरपाल ने कहा कि पिछले वर्षो में हुई रेड से हलवाइयों की बदनामी हुई है और उनके कारोबार को नुकसान हुआ है। फूड कमिश्नर को इन चीजों का भी ध्यान रखना चाहिए कि किसी की बेवजह बदनामी न हो।

Posted By: Jagran