जगराओं (लुधियाना), [हरविंदर सिंह सग्गू]। Gangsters Attack On Punjab Police Team: पंजाब के लुधियाना स्थित जगराओं की नई दानामंडी में गैंगस्टरों ने पंजाब पुलिस की टीम पर बड़ा हमला किया है। गैंगस्टरों/नशा तस्करों की फायरिंग में दो असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टरों (एएसआइ) भगवान सिंह और दलविंदरजीत सिंह की गोली लगने से मौत हो गई है।  दलजिंदरजीत मूल रूप से तरनतारन के रहने वाले थे। एक पुलिस कर्मी राजविंदर सिंह भी उनके साथ था। उसकी जान बच गई है। फिलहाल पुलिस राजविंदर सिंह से पूछताछ में जुटी हुई है।

जगराओं की दानामंडी में गैंगस्टरों से मुठभेड़ में दो एएसआइ की मौत के बाद मौके पर बचे पुलिस कर्मी राजविंदर सिंह पूछताछ करती हुई देहात पुलिस। 

नई दाना में सीआइए स्टाफ की तीन सदस्यों की टीम गई थी। वहां गैंगस्टरों से मुठभेड़ में एएसआइ भगवान सिंह की गोली लगने से मौके पर मौत हो गई, जबकि एएसआइ दलविंदरजीत सिंह गंभीर रूप से घायल हो गए। मौके पर पहुंची लुधियाना देहात पुलिस की टीम उन्हें जगराओं सिविल अस्पताल ले गई। वहां से उन्हें लुधियाना रेफर कर दिया गया, पर उन्होंने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। 

कैंटर में भारी मात्रा में नशा पहुंचने की सूचना पर जांच को गई थी टीम

घटना शाम करीब 6 बजे की है। दाना मंडी में एक कैंटर खड़ा हुआ था। इसमें भारी मात्रा में नशा होने की सूचना पर पुलिस पार्टी जांच के लिए एएसआइ भगवान सिंह, एएसआइ दलविंदरजीत सिंह और कर्मचारी राजविंदर सिंह के साथ वहां पर पहुंची। वे अभी कैंटर की जांच करके उसमें सवार लोगों से पूछताछ ही कर रहे थे कि मौके पर एक आई 20 कार पहुंची। इसमें से तीन-चार लोग उतरे।

जगराओं की दाना मंडी में गैंगस्टरों ने जांच करने पहुंची पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी। हमले में पंजाब पुलिस के दो एएसआइ की मौत हो गई है।

उन्होंने पुलिस पार्टी के साथ बहस करते हुए ताबड़तोड़ गोलियों की बौछार कर दी। एक गोली एएसआइ भगवान सिंह के सिर पर लगी। उनकी मौके पर ही मौत हो गई। एएसआई दलविंदरजीत सिंह की जांघ और पीठ पर गोलियां लगी। उन्हें गंभीर हालत में अस्पताल पहुंचाया गया। वहां से उन्हें लुधियाना रेफर कर दिया गया लेकिन उसकी रास्ते में ही उनकी मौत हो गई। तीसरे पुलिस कर्मी राजविंदर सिंह ने मौके से भागकर जान बचाई। 

आई-20 में आए थे गैंगस्टर/नशा तस्कर

सूचना मिलते ही एसएसपी चरणजीत सिंह सोहल, एसपी राजवीर सिंह, डीएसपी जतिंदरजीत सिंह, जीएसपी राजेश शर्मा, इंसपेक्टर सिमर सिंह समेत अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे और जांच शुरू की। घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच में पुलिस को एक लाल रंग का कैंटर और आई-20 कार नजर आई। इनके नंबर पुलिस ने ट्रेस करके हाई अलर्ट जारी कर दिया है।