जागरण संवाददाता, लुधियाना : कांग्रेसी नेता कमलजीत सिंह कड़वल ने आरटीआई एक्टिविस्ट कुलदीप सिंह खैहरा पर नगर निगम जोन सी में बिल्डिंग ब्रांच का रिकार्ड चोरी करने का आरोप लगाया। कड़वल ने एक सीसीटीवी फुटेज जारी करते हुए आरटीआई एक्टिविस्ट पर रिकार्ड चोरी करके घर ले जाने का आरोप लगाया। कांग्रेसी नेता ने इस संबंध में नगर निगम कमिश्नर को शिकायत भी दे दी। वहीं आरटीआई एक्टिविस्ट कुलदीप सिंह खैहरा ने कांग्रेसी नेता के आरोपों को नकारा है। यह मामला अब मेयर के पास पहुंच गया है और देर रात मेयर ने जोन सी के अफसरों को अपने कैंप ऑफिस में तलब किया है।

कमलजीत सिंह कड़वल ने निगम कमिश्नर को लिखी शिकायत में कहा है कि आरटीआई एक्टिविस्ट ने बिल्डिंग ब्रांच का कुछ रिकार्ड बुधवार को चोरी किया है। कड़वल ने बताया कि जब उन्हें यह सूचना मिली तो उन्होंने जोन सी में लगे सीसीटीवी से फुटेज निकाली। सीसीटीवी फुटेज में दफ्तर से निकलते हुए उनके हाथ में निगम की फाइलें दिख रही हैं। जिससे साफ हो जाता है कि वह फाइलें चोरी करके घर ले जा रहा है।

उन्होंने बताया कि इसकी शिकायत नगर निगम कमिश्नर को दे दी है। वहीं देर शाम कड़वल मेयर बलकार सिंह संधू के पास पहुंचे और मेयर ने जोन सी के अफसरों को कैंप ऑफिस में बुलाया। मेयर ने इस पूरे मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

कुलदीप खैहरा का कहना है कि उन्होंने नगर निगम में आरटीआई लगाई थी कि हाईकोर्ट की तरफ से जारी ऑर्डर के बाद शहर में फार्मेट के हिसाब से कितने चालान हुए हैं इसकी जानकारी दी जाए। उन्होंने बताया कि निगम ने पहले इसकी जानकारी नहीं दी। फ‌र्स्ट एपीलिएंट अथॉरिटी के पास शिकायत की तो तब जोन ए, बी व डी की सूचना मिल गई थी। उसी दौरान एपीलिएंट अथॉरिटी ने जोन सी को आदेश दिए थे कि यह जानकारी उन्हें दी जाए। खैहरा ने बताया कि बुधवार को वह यही सूचना लेने निगम दफ्तर में गए थे और सूचना लेकर आए। उन्होंने कहा सीसीटीवी फुटेज में वह सीढि़यों से दस्तावेज लेकर आ रहे हैं। यह दस्तावेज उन्हें आरटीआई में दिए गए हैं। इसकी कव¨रग लेटर भी उनके पास है। इन दस्तावेजों पर आरटीआई की मुहर भी लगी है। खैहरा ने बताया कि उस पर इसलिए दबाव बनाया जा रहा है क्योंकि उन्होंने हाल ही में गिल में चल रहे फ्लैटों का निर्माण कार्य रूकवाया है। बिल्डिंग ब्रांच की तरफ से अभी तक मुझे ऐसी सूचना नहीं दी गई है। कुछ लोगों ने मुझसे सीसीटीवी फुटेज मांगी हैं। मैंने वह देने के आदेश जरूर दिए हैं। अब इस मामले की जांच की जाएगी। जांच में जो बात सामने आएगी उसके हिसाब से कार्रवाई की जाएगी।

अनीता दर्शी, जोनल कमिश्नर जोन सी।

Posted By: Jagran