जासं, लुधियाना :

दो माह से वेतन और डेढ़ साल का पीएफ जमा न होने से नाराज मजदूरों ने मंगलवार को ढंडारी कलां स्थित महाजन स्टील रोलिग मिल के गेट पर रोष प्रदर्शन किया।

वहां का माहौल तब तनावपूर्ण हो गया जब मिल मालिक ने मजदूरों को धरने से उठा फैक्ट्री में जाकर काम करने के लिए दवाब डाला। मजदूरों के न मानने पर उसने अपने दो साथियों को बुला लिया, जिन्होंने पिस्तौल तान उन्हें डराने की कोशिश की। मौके पर पहुंची थाना साहनेवाल की कंगनवाल चौकी पुलिस ने आरोपित दोनों युवकों को हिरासत में लेकर पिस्तौल कब्जे में ले लिया।

कामरेड चितरंजन कुमार, राज सिंह राजपूत, सुग्रीव मिश्रा, समेत फैक्ट्री के सुपरवाइजर पवन यादव, सुपरवाइजर जसविदर सिंह और अन्य मजदूर वेतन की बात करने मिल मालिक के पास गए। पैसों के देन लेन को लेकर उनके बीच बहस हो गई। जिसके बाद गुस्साए मजदूरों ने फैक्ट्री के बाहर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया, जो दो घंटे चलता रहा।

मजदूरों ने आरोप लगाया कि मालिक ने उक्त फैक्ट्री किसी को बेच दी है। उनके एक साथी के घर में शादी होने के कारण जब पीएफ से रुपये निकलवाने गए तो पता चला कि कंपनी ने डेढ़ साल से फंड जमा नहीं करवाया है। इस संबंध में पीएफ अधिकारी ने कंपनी को पांच बार नोटिस भी दिया दिया है।

पिस्तौल दिखाने जैसी कोई बात नहीं है

धरने का पता चलने पर मैं खुद वहां गया था। वहां फैक्ट्री मालिक व मजदूरों के बीच लेन-देन का मामला था। वहां पिस्तौल दिखाने जैसी कोई बात सामने नहीं आई है। न ही किसी ने कोई शिकायत दी है। मजदूरों से कहा गया है कि वो अपनी मांग को लेकर लेबर कोर्ट में जाएं। जिसके बाद धरना हटा दिया गया।

धरमिदर शर्मा,

कंगनवाल चौकी इंचार्ज।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!