लुधियाना, जेएनएन। Ludhiana Covid/Coronavirus Cases Update: जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की ओर से बचाव की तमाम कोशिशों के बावजूद जिले में कोरोना संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है। जिले में तीन मई को लाकडान लग गया था। इसके बावजूद संक्रमण रुकने का नाम नहीं ले रहा।

रविवार को पहली बार जिले में 24 घंटे में रिकार्ड 1729 मरीज मिले। इनमें से 1671 लोग लुधियाना सिटी और अन्य 59 लोग खन्ना, जगराओं, समराला, रायकोट और पायल सब डिवीजन के थे। साथ ही पहली बार एक दिन में जिले के रहने वाले 22 संक्रमितों ने दम तोड़ा है।

सेहत विभाग की ओर से शनिवार को 10063 लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे, जिसमें इतने लोगों की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। इस तरह पाजिटिविटी रेट 17.90 फीसद रहा। जिले में मृत्यु दर 2.31 प्रतिशत रही।  पिछले नौ दिनों में जिले में 11 हजार के करीब कोरोना के नए मामले आ गए है। जिले में पहली बार 54 संक्रमित वेंटिलेटर पर है।

अन्य जिलों के 151 मरीज, 10 की मौत

रविवार को दूसरे जिलों के रहने वाले दस संक्रमितों ने भी दम तोड़ दिया, जबकि 151 लोग पाजिटिव मिले। जिले में अभी तक 66,995 लोग कोरोना की चपेट में आ चुके हैं, जिनमें से 53398 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। अभी तक जिले के 1550 संक्रमितों की मौत हो चुकी है।

दम तोड़ने वालों का उम्र वर्ग

उम्र वर्ग         मरीजों की मौत

25-35 साल           3

40-46 साल           4

50-55 साल           5

55-60 साल           2

60-85 साल           8

जिले में करीब 5.85 लाख लोगों की वैक्सीनेशन हुई

लुधियाना जिले में अब तक करीब 5.85 लाख लोगों की वैक्सीनेशन हुई है, जिसमें से 1.50 लाख लोगों ने निजी अस्पतालों में वैक्सीन लगवाई है। अब सोमवार से तीसरे चरण की वैक्सीनेशन शुरू हो रही है, जिसमें सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों पर 18 साल से अधिक उम्र वालों की वैक्सीनेशन शुरू हो जाएगा, लेकिन शहर के निजी अस्पतालों के वैक्सीनेशन सेंटर सूने ही रहेंगे। कारण, निजी अस्पतालों को न तो सरकार की तरफ से वैक्सीन उपलब्ध करवाई जा रही है और न ही मैन्युफैक्चर्स की तरफ से, जबकि अप्रैल मध्य तक जिले में 70 से अधिक निजी अस्पतालों में वैक्सीनेशन हो रही थी। फिलहाल जिले के डीएमसी, सीएमसी व मोहनदेई ओसवाल अस्पताल समेत 20 निजी अस्पतालों ने कंपनी को करीब एक लाख डोज का आर्डर दिया है।