मुनीश शर्मा, लुधियाना : कारपोरेट जगत ने पंजाब सरकार की ओर से पेश किए गए बजट पर मिलीजुली प्रतिक्रिया व्यक्त की है। उद्योगपतियों ने कहा कि सरकार की ओर से पंजाब की आर्थिक स्थिति को देखते हुए बैलेंस बजट देने का प्रयास किया गया है। पंजाब का कर्ज लगातार बढ़ रहा है और आमदनी के साधन कम हैं। ऐसे में बजट में आर्थिक स्थिति बेहतर करने के लिए कवायद की गई हैं। इसके अलावा आम लोगों पर किसी तरह के टैक्स का बोझ न बढ़ाते हुए सुविधाओं पर भी ब्रेक लगाई गई है। नई योजनाओं को लेकर काम नहीं हुआ है। पुराने तानेबाने को संभालने के साथ-साथ मूलभूत सुविधाओं चिकित्सा व शिक्षा पर जोर दिया है। इसके साथ ही कौशल विकास, ग्रामीण विकास और युवाओं पर ध्यान केंद्रित है। वैसे सीधे तौर पर तो इंडस्ट्री के हाथ अभी कुछ खास नहीं लगा है, लेकिन अगर पंजाब के निचले वर्ग तक ग्रोथ आती है तो बाजार में रुपये की कमजोरी कम होगी और इसका लाभ इंडस्ट्रीयल उत्पादन में भी देखने को मिलेगा।

:::::::::::

पहले बजट में सरकार का बैलेंस बनाने का प्रयास

आम आदमी पार्टी को अभी तीन माह का समय हुआ है। ऐसे में पंजाब का वित्तीय स्थिति का आंकलन कर बजट प्रस्तुत किया गया है। इसमें लोगों को भारी अपेक्षाएं थी, लेकिन वित्तीय स्थिति के मुताबिक आय को बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित है। हर सेक्टर पर ध्यान है, लेकिन उद्योगों को और सुविधाएं देकर रोजगार के अवसर पंजाब में बढ़ाए जा सकते हैं। पंजाब में कुशल युवाओं की काफी आवश्यकता है। इस पर काम करना चाहिए।

- जवाहर लाल ओसवाल, सीएमडी, नाहर ग्रुप आफ कंपनीज व्यापारी आयोग बनाना अच्छा कदम

सरकार की ओर से इस बजट में मुख्य रूप से ग्राउंड लेवल पर फोकस किया गया है। चुनावी घोषणाओं के मुताबिक सेहत, शिक्षा मुख्य एजेंडे में है। इसके साथ ही इंडस्ट्री की समस्याओं के समाधान के लिए व्यापारी आयोग बनाने का फैसला भी सही है। इससे सरकार और इंडस्ट्री एक-दूसरे की कड़ी बनकर समस्याओं के समाधान को लेकर काम कर सकेंगे। अब सरकार की नई इंडस्ट्रीयल पालिसी से भी खासी उम्मीदें हैं।

- ओंकार सिंह पाहवा, सीएमडी, एवन साइकिल लिमिटेड पंजाब की आर्थिक स्थिति के मुताबिक बजट

इस समय पंजाब की वित्तीय स्थिति बेहद खराब है। ऐसे में सरकार की ओर से एक बैलेंस बजट पेश किया गया है ताकि पंजाब की आर्थिक स्थिति को पटरी पर लाया जा सके। इसकी झलक बजट में देखने को मिली है, जिसमें खर्चो पर भी लगाम लगाई गई है। इसके साथ ही आमदनी बढ़ाने पर अभी सरकार का फोकस है। कृषि, सेहत और शिक्षा पंजाब की तरक्की में अहम योगदान दे सकते हैं। इन्हीं पर फोकस है।

- कोमल कुमार जैन, सीएमडी, डयूक फैशन इंडिया बजट में कई बड़े सुधारों की उम्मीद

पंजाब सरकार द्वारा पेश किए बजट में पंजाब के बढ़ते कर्ज को कम करने के साथ-साथ विकास योजनाओं और मूलभूत सुविधाओं पर सरकार का फोकस है। इसके जरिए पंजाब को आर्थिक पटरी पर लाने का प्रयास है। इससे आने वाले दिनों में कई बड़े सुधारों की उम्मीद है। इसके साथ ही अभी इंडस्ट्री में कुशल युवाओं के लिए इनोवेशन सेंटर की अहम आवश्यकता है।

- वरिदर गुप्ता, एमडी, आइओएल केमिकल्स लिमिटेड

Edited By: Jagran