लुधियाना, जेएनएन। दो दिन से जिले में कोवैक्सीन की कमी हो गई है। सेहत विभाग के पास दो हजार डोज ही बची है इसलिए यह वैक्सीन सिर्फ उन्हीं लोगों को लगाई जा रही है जिन्हें पहली डोज में भी कोवैक्सीन ही लगाई गई थी। कोवैक्सीन की सप्लाई मार्च के बाद नहीं आई है। मार्च में अंतिम बार 17 हजार डोज आई थी। इस कारण कोवैक्सीन लगवाने के इच्छुक लोगों को कुछ सेशन साइटों से निराश लौटना पड़ रहा है। कुछ जगह डाक्टर भी लाभार्थियों को यह समझा रहे हैं कि कोवैक्सीन की डोज अब सिर्फ उन्हीं लोगों को दी जा रही है जिन्होंने पहली डोज भी इसकी लगवाई है।

यह बात भी सामने आ रही है कि कोवैक्सीन की कमी के कारण शहर में ऐसी सेशन साइटों को बंद कर दिया है जहां कोवैक्सीन लगाई जा रही थी। दो से तीन साइटों पर अब भी दिक्कत सामने आ रही है कि जिन लोगों ने वहां पहली डोज लगवाई थी वहां उन्हें दूसरी डोज नहीं मिल पा रही है। लोगों को यह कहा जा रहा है कि कुछ दिन बाद आकर वैक्सीन की दूसरी डोज लगवा लें। हालांकि जिले में कोविशील्ड वैक्सीन की 70 हजार डोज स्टाक में है। इसकी कोई कमी नहीं है। जो भी लोग पहली डोज लगवाने आ रहे हैं उन्हें कोविशील्ड वैक्सीन लगाई जा रही है।

जिला इम्यूलाइजेशन अफसर डा. पुनीत जुनेजा का कहना है कि कोविशील्ड की कोई कमी नहीं है। पहली डोज लगवाने वाले उसे लगवाएं। कोवैक्सीन की 2500 डोज हैं। 17 हजार डोज की मांग भेजी गई है। जल्द सप्लाई आ जाएगी और कोवैक्सिन लगना शुरू हो जाएगी। कोरोना के खिलाफ कोवैक्सीन व कोविशील्ड दोनों वैक्सीन प्रभावशाली हैं।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

 

 

 

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप