लुधियाना, जेएनएन। लोहड़ी एक ऐसा त्योहार जिसका हर पंजाबी में बेहद उत्साह देखने को मिलता है। रविवार को ही विभिन्न स्थानों पर लोहड़ी सेलिब्रेशन के लिए पूरी तैयारियां कर ली गई थीं, परंतु सोमवार को हुई बारिश और खराब मौसम ने इसका मजा कुछ किरकिरा जरूर किया परंतु पंजाबियों के जोश के आगे इस पर्व की रौनक फीकी नहीं हो सकी।

सुबह कुछ समय के लिए जरूर पतंग उड़े और गाने भी बजे पर बारिश शुरू होने पर दिनभर वे मायूस रहे। दूसरी तरफ शहर के कॉलेजों में तो लोहड़ी सेलिब्रेशन की पूरी धूम रही। हालांकि वहां रखे गए काइट-फ्लाइंग कंपीटिशन नहीं हो पाए। कॉलेजों में अग्नि जलाई गई और सांस्कृति कार्यक्रम आयोजित किए गए। विद्यार्थियों, स्टाफ ने अग्नि प्रज्ज्वलित करने की रस्म अदा की और सुंदर-मुंदरिए हो, तेरा कौन विचारा हो.. के गीत गाए। साथ में गिद्दा और भंगड़ा परफॉर्मेंस भी चली।

सतीश चंद्र धवन सरकारी कालेज

सतीश चंद्र धवन सरकारी (एससीडी) कॉलेज में अग्नि जलाई और फिर रंगारंग कार्यक्रम में हिस्सा लिया। विद्यार्थियों ने जल्दबाजी की शादी पर कॉमेडी स्किट पेश कर सभी को लोटपोट कर दिया। फिर गिद्दा-भांगड़ा और लेजियम डांस की परफॉर्मेंस हुई और स्टाफ सदस्यों के अलावा विद्यार्थी भी खूब थिरके। हालांकि यहां बारिश के चलते पतंगबाजी मुकाबला नहीं हो सका।

पीसीटीई ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट

पीसीटीई ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट के इंजीनियरिंग विभाग में डीजे की धुन के साथ अग्नि जलाई गई। इसमें विद्यार्थियों मूंगफली, रेवड़ी और चिरवड़े डाल माथा टेका। फिर खाने-पीने के स्टाल पर सभी ने व्यजंनों का लुत्फ उठाया। बारिश के कारण लोहड़ी पर पतंगबाजी मुकाबला नहीं कराया गया।

एससीडी गवर्नमेंट कालेज में लोहड़ी सेलिब्रेशन के दौरान गिद्दा प्रस्तुत करती जसलीन।

लुधियाना के एससीडी गवर्नमेंट कालेज में लोहड़ी सेलिब्रेशन के दौरान गिद्दा प्रस्तुत करती जसलीन

गुरु नानक खालसा कॉलेज

गुरु नानक खालसा कॉलेज मॉडल टाउन में केवल अग्नि जलाई गई और लोहड़ी के गीत गाकर स्टाफ व विद्यार्थियों ने मूंगफली-रेवड़ी का लुत्फ उठाया।

रामगढिय़ा गल्र्स कॉलेज

रामगढिय़ा गल्र्स कॉलेज मिल्लरगंज में धीयां दी लोहड़ी मनाई गई। जीएस रेडिएटर्स की एमडी राङ्क्षजदर कौर, कॉलेज की पूर्व प्रिंसिपल डॉ. नरिंदर कौर संधू भी इस दौरान शामिल हुईं। कॉलेज में अग्नि जलाई गई और छात्राओं ने बोलियां पेश कीं।

----------------

पतंगबाजी न होने से निराश हुए युवा

- मुझे पतंग उड़ाने का काफी शौक है। हर साल लोहड़ी पर कॉलेज में दोस्तों के साथ पतंग उड़ा इस त्योहार को मनाते हैं पर इस बार बारिश ने मजा किरकिरा कर दिया।

- हरजीत भट्टी, एमए फाइनल वर्ष, एससीडी गवर्नमेंट कॉलेज

- लोहड़ी को लेकर कॉलेज में काफी तैयारियां की गई। दोस्तों के साथ इस त्योहार को मनाने का अपना ही मजा होता है पर बारिश ने मजा थोड़ा पीका कर दिया।

- गीतिका, एमए फस्र्ट, एससीडी कॉलेज

- इस त्योहार पर दोस्तों संग एक साथ सौ पतंगे उड़ानी थी, बारिश ने सब पर पानी फेर दिया। पतंग उड़ाने की सभी तैयारी धरी की धरी रह गई।

- गुरकिरत सिंह, बीसीए फर्स्ट ईयर, पीसीटीई

- कॉलेज में दोपहर बाद पतंग उड़ाने की प्रतियोगिता थी जो बारिश के कारण नहीं हो सकी। पतंग उड़ाने का शौक इस दिन पूरा नहीं हो सका।

- जश्नप्रीत, बीसीए वन, पीसीटीई

Posted By: Vikas Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!