लुधियाना, जेएनएन। लुधियाना में पिछले दिनों कोविड मरीज का शव ऑटो और रिक्शा में रखकर श्मशान ले जाने का मामला सामने आने के बाद भी स्वास्थ्य विभाग सबक सीखने को तैयार नहीं है। मंगलवार को एक बार फिर सिविल अस्पताल स्टाफ की किरकिरी हुई है। हालांकि मामला मीडिया कर्मियों की नजर आने के बाद अस्पताल प्रबंधन ने अपनी गलती सुधारी। पिछली घटना की तरह इस घटना का भी वीडियो शहर में वायरल हो गया है।  

सिविल अस्पताल में मंगलवार को एक बार फिर स्टाफ की लापरवाही सामने आई। एक व्यक्ति की मौत के बाद उसके गरीब स्वजन शव को ऑटो में रखकर ले जा रहे थे। मौके पर मीडिया कर्मियों के पहुंचने के बाद अस्पताल स्टाफ हरकत में आ गया और शव को स्ट्रेचर पर डालकर वापस अस्पताल में ले गए। इस घटना का वीडियो वायरल हो गया है।

कोरोना पॉजिटिव नहीं था मरने वाला

दरअसल, एक बीमार व्यक्ति को सिविल अस्पताल लाया गया था। जांच के बाद डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। अस्पताल स्टाफ ने शव को कोविड प्रोटोकाल की तरह लपेट कर स्वजनों को सौंप दिया। वह लोग गरीब थे। उनके पास एंबुलेंस के लिए पैसे नहीं थे। उन्होंने अस्पताल के बाहर से ऑटो मंगवाया और शव सीट के नीचे रख लिया। बताया जा रहा है कि यह मरीज कोविड पाजिटिव नहीं था।

डीसी ने बनाई है अंतिम संस्कार के लिए कमेटी

गौरतलब है कि डीसी के आदेश के बाद अंतिम संस्कार के लिए एक कमेटी का गठन किया है। फिर भी इस घटना ने सवाल खड़ा कर दिया है।

यह भी पढ़ें - Sukhjinder Shera Death: प्रसिद्ध पंजाबी कलाकार सुखजिंदर शेरा का निधन, बिजनेस के लिए गए थे दक्षिण अफ्रीका

यह भी पढ़ें - Facebook पर हुई दाेस्ती ने की जिंदगी बर्बाद, शादी का झांसा देकर NRI ने तलाकशुदा महिला से किया दुष्कर्म; आठ लाख ठगे

यह भी पढ़ें-COVID Guideline Violation in Ludhiana: यूपी जाने वाली बस में ठूंस रखी थी 150 सवारियां, ड्राइवर गिरफ्तार

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप