जागरण संवाददाता, लुधियाना

शहर के चौक चौराहों पर अलग अलग राजनीतिक दलों के नेताओं के होर्डिग दिखना आम बात है। शहर में अगर किसी बड़े नेता का दौरा हो तो राजनीतिक दलों के नेता अपने आकाओं को खुश करने के लिए अवैध होर्डिग से शहर भर देते हैं। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। जिस नेता का शहर में अवैध होर्डिग लगेगा निगम पहले तो उसे हटाएगा और उसके बाद नेता के खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी करेगा।

नगर निगम कमिश्नर जसकिरण सिंह ने सभी राजनीतिक दलों के जिला प्रधानों को पत्र लिखकर साफ कह दिया है कि अब वह शहर में किसी तरह के अवैध होर्डिग और बैनर न लगाएं। उन्होंने कहा कि नई विज्ञापन पॉलिसी के हिसाब से ही निर्धारित जगहों पर ही वह अपने होर्डिग व बैनर लगवाएं। विज्ञापन पॉलिसी का उलंघन करने वालों के खिलाफ निगम सख्त कार्रवाई करेगा। इसके लिए नेता खुद जिम्मेदार होंगे।

दरअसल, नई विज्ञापन पॉलिसी के हिसाब शहर में सिर्फ उन्हीं स्थानों पर विज्ञापन लगाए जा सकेंगे जिन्हें निगम की तरफ से अधिकृत किया जाएगा। उसके अलावा कहीं भी विज्ञापन लगाए जाते हैं तो उन पर कानूनी कार्रवाई का प्रावधान है। शहर में सबसे ज्यादा अवैध विज्ञापन राजनैतिक दलों की तरफ से लगाए जाते हैं जिसकी वजह से नगर निगम को राजस्व के तौर पर भारी नुकसान उठाना पड़ता है। नगर निगम कमिश्नर जसकिरन सिंह ने बताया कि राजनैतिक दलों के प्रधानों को नई विज्ञापन पॉलिसी के बारे में अवगत कराया गया है ताकि वह अपनी पार्टी के नेताओं को इस संबंध में बता सकें। विज्ञापन टेंडर जारी करने से पहले सख्ती पर उतरा निगम

निगम अब विज्ञापन से ज्यादा से ज्यादा राजस्व कमाने की योजना बना रहा है। इसलिए निगम विज्ञापन टेंडर का बेस प्राइस ज्यादा रखेगा। अगर निगम ने अवैध विज्ञापनों पर नकेल नहीं कसी तो कोई भी कंपनी निगम को ज्यादा पैसे नहीं देगी। इसलिए निगम ने अवैध तरीके से लगने वाले विज्ञापनों पर सख्ती करने का मन बना लिया है।

Posted By: Jagran