जेएनएन, लुधियाना। लुधियाना संसदीय क्षेत्र से लोकसभा चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवार सोमवार से नामांकन करवा सकेंगे। जिला प्रशासन ने नामांकन प्रक्रिया के लिए पूरी तैयारियां कर दी हैं। प्रशासन ने सुरक्षा के चाक-चौबंद प्रबंध किए हैं, ताकि नामांकन के दौरान किसी भी तरह से आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन न हो। नामांकन प्रक्रिया के दौरान कोई भी उम्मीदवार जिला प्रशासकीय कॉम्पलेक्स में तीन से ज्यादा वाहन नहीं ला सकेगा। यही नहीं जिला चुनाव अधिकारी के पास अपना नामांकन फार्म जमा करवाते वक्त अपने साथ पांच से ज्यादा समर्थकों को साथ नहीं ले जा सकेगा। नामांकन का समय 11 से 3 बजे का रखा गया है। प्रशासन उम्मीदवारों को पहले ही पूरे नियम कानून पढ़ा चुका है।

डीसी दफ्तर के अंदर जाने वाले सभी रास्ते सील

डीसी दफ्तर के अंदर जाने वाले सभी रास्तों को सील कर दिया गया है और सिर्फ एक रास्ते को खुला रखा गया है। उम्मीदवार 22 अप्रैल से 29 अप्रैल तक नामांकन फार्म जमा करवा सकेंगे। जिला प्रशासन ने नामांकन प्रक्रिया के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम कर दिए हैं। डीसी दफ्तर में थ्री लेयर सिक्योरिटी के इंतजाम किए गए हैं। सुरक्षा कर्मियों की पहली टीम मुख्य गेट पर तैनात रहेगी। वहीं दूसरी टीम डीसी दफ्तर के कैंपस में रहेगी और तीसरी टीम डीसी दफ्तर के दरवाजे पर रहेगी। इसके लिए कुल 100 सुरक्षा कर्मियों को तैनात किया गया है। सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेदारी एसीपी सेंट्रल को सौंपी गई है। पंजाब पुलिस के साथ अर्ध सैनिक बलों को भी तैनात किया गया है।

बिट्टू 25 को भरेंगे नामांकन

नामांकन के पहले दिन किसी बड़े उम्मीदवार के आने की संभावना नहीं है। क्योंकि कांग्रेस प्रत्याशी रवनीत सिंह बिट्टू पहले ही घोषणा कर चुके हैं कि वह 25 अप्रैल को नामांकन करेंगे और उस दिन मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह मौजूद रहेंगे। वहीं अकाली दल के प्रत्याशी महेश इंदर सिंह ग्रेवाल 26 अप्रैल को अपना नामांकन करने का ऐलान कर चुके हैं। उनके नामांकन में भी पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल भी मौजूद रहेंगे।

एक दर्जन से अधिक उम्मीदवार ले जा चुके हैं आवेदन फार्म

लुधियाना संसदीय क्षेत्र से उम्मीदवारी जताने के लिए एक दर्जन से ज्यादा उम्मीदवार फार्म ले जा चुके हैं। देखना होगा कि अब कितने उम्मीदवार अपने फार्म जमा करवाएंगे। दरअसल अभी तक चार प्रमुख उम्मीदवार ही मैदान में हैं जिनमें कांग्रेस से रवनीत सिंह बिट्टू, अकाली भाजपा गठबंधन से महेशइंदर सिंह गरेवाल, आप से प्रोफेसर तेजपाल सिंह गिल व पीडीए से सिमरजीत सिंह बैंस मैदान में हैं। चुनाव तहसीलदार अंजू बाला ने बताया कि उनके दफ्तर से एक दर्जन से अधिक उम्मीदवार आवेदन फार्म ले जा चुके हैं। आज से नामांकन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। नामांकन के दौरान उम्मीदवारों को क्या-क्या सावधानियां रखनी हैं इसके बारे में पहले ही सभी संभावित उम्मीदवारों को बुलाया गया था और उन्हें इस बारे में जानकारी दी गई है। सुरक्षा के लिए पुलिस बल को तैनात किया गया है। प्रदीप अग्रवाल, जिला चुनाव अधिकारी कम डीसी लुधियाना

एआरओ के पास 85 से 90 फीसद चुनाव अमले ने लगवाई हाजिरी

19 मई को मतदान केंद्रों पर ड्यूटी देने वाले कर्मचारियों और अफसरों को जिला प्रशासन की तरफ से पहली ट्रेनिंग दी गई, जिसमें प्रशासन की तरफ से जिले के नौ अलग अलग केंद्रों पर एआरओ ने कर्मचारियों व अफसरों को हाजिरी देने के लिए बुलाया था। इस दौरान अलग-अलग केंद्रों में 85 से 90 फीसद चुनावी अमला हाजिर हुआ। एआरओ ने सभी कर्मचारियों को पहले फेज की ट्रेनिंग दी। वहीं जो कर्मचारी अनुपस्थित रहे उन्हें प्रशासन की तरफ से कारण बताओ नोटिस जारी किया जाएगा।

15 हजार कर्मचारियों की लगी है ड्यटी

लुधियाना जिले में चुनाव संपन्न करवाने के लिए करीब 15000 कर्मचारियों व अफसरों को चुनाव ड्यूटी सौंपी गई है। रविवार को अलग-अलग केंद्रों पर कर्मचारियों की पहले हाजिरी लगवाई गई और उसके बाद उन्हें ईवीएम चलाने की ट्रेनिंग दी गई। यही नहीं उन्हें यह भी बताया गया कि मतदान के दौरान उनकी क्या-क्या जिम्मेदारियां होंगी। डिप्टी कमिश्नर प्रदीप अग्रवाल ने बताया कि रविवार को पहली ट्रेनिंग दी गई, जिसमें कर्मचारियों की उपस्थिति भी जांची गई। डीसी ने बताया कि गैर हाजिर कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किए जाएंगे।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप