मनोज दुबे, लुधियाना : स्वच्छ भारत मिशन को बढ़ावा देने के लिए साहनेवाल चौक से लुधियाना तक नेशनल हाईवे पर शौचालयों का निर्माण करवाया गया था। इसका उद्देश्य था कि इस मार्ग से आवागमन करने वाले इसका लाभ ले सकें और इलाके में स्वच्छता बरकरार रहे। हालांकि सुविधाओं के अभाव में साहनेवाल चौक के सामने स्थित शौचालयों पर ताला लटक रहा है। यही हाल ढंडारी खुर्द, ग्यासपुर चौक, शेरपुर चौक तक के 15 किलोमीटर एरिया में बनाए गए चार शौचालयों का है। बताया जाता है कि यहां पर बिजली का बिल जमा न होने पर पावरकाम ने कनेक्शन काट दिया और इसके बाद निगम ने भी न तो पक्का कर्मचारी मुहैया करवाया और न ही अन्य सुविधाएं। यही कारण है कि लोगों को इसका कोई लाभ नहीं मिल पा रहा।

साहनेवाल इलाके के आसपास रहे वाले लोग बताते हैं कि शौचालयों में ताला लटका रहने से राहगीरों को काफी परेशानी होती है। लोग जरूरत पड़ने पर किसी पेट्रोल पंप या किसी ढाबे वाले के यहां पहुंचते हैं और वहां बने शौचालयों का इस्तेमाल करते हैं।

आखिल भारतीय मजदूर कौंसिल के प्रधान चितरंजन कुमार, वाइस प्रधान मोहमद सहजाद, युवा वर्ग के प्रधान राज सिंह राजपूत ने बताया कि अगर कभी शौचालय खुलता भी है तो अंदर गंदगी के ढेर ही देखने को मिलते हैं।

साहनेवाल में मार्केट के लोगों ने बताया कि निगम ने कई माह से शौचालय के बिजली के बिल नहीं दे रखे थे। इसी कारण पावरकाम ने इसकी बिजली काट दी थी। इसके बाद निगम ने इसकी सुध तक नहीं ली। बिजली न होने से शौचालय के अंदर पानी का प्रबंध भी नहीं है। मार्केट के लोगों की मांग है कि इन शौचालयों को जल्द शुरू करवाया जाए ताकि लोगों को इसका फायदा मिले।

इंचार्ज को मामले की जानकारी ही नहीं

साहनेवाल में शौचालयों का इंतजाम देख रहे इंचार्ज जसबीर सिंह से इस बारे में बात की गई तो उन्होंने मामले से अनभिज्ञता जाहिर की। उन्होंने कहा कि ऐसी कोई शिकायत उन्हें नहीं मिली है। फिर भी वह शौचालयों के चेकिंग करवाएंगे और लोगों को पूरी सुविधाएं दी जाएंगी।

Edited By: Jagran