लुधियाना, जेएनएन। लुधियाना के लोगों के लिए दो दिन राहत लेकर आए। शनिवार और रविवार को कोई भी कोरोना वायरस से संक्रमित नया मरीज सामने नहीं आया है। सभी रिपोर्ट नेगेटिव आ रही हैं। सेहत विभाग की ओर से गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज पटियाला में जांच के लिए 160 सैंपल भेजे गए थे। रविवार देर शाम सभी सैंपल की रिपोर्ट नेगेटिव आई। सिविल सर्जन डॉ. राजेश बग्गा ने बताया कि अभी केवल डीएमसीएच भेजे गए दो सैंपल की रिपोर्ट पेंडिग हैं। अब तक जिले में कोरोना पॉजिटिव के 179 मरीज सामने आए हैं। जबकि 86 मरीज दूसरे राज्यों व जिलों से हैं। जिले में कुल 5386 मरीजों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है।

आइसीएमआर की टीम पहुंचेगी लुधियाना

कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलाव और लोगों में इस रोग की प्रतिरोधक क्षमता की स्थिति का आकलन करने के लिए सोमवार को इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च (आइसीएमआर) की टीम महानगर में पहुंचेंगी। यह टीम पटियाला, जालंधर, गुरदासपुर व पठानकोट में भी सर्वे कर चुकी है। टीम के दोपहर दो बजे महानगर पहुंचने की संभावना है। टीम ने जिले के सेहत विभाग को पहले ही सूचित कर दिया है। इस टीम में चौदह सदस्य होंगे। टीम शहर को दस भागों में बांटकर सर्वे और सैंपलिग करेगी। सर्वे व सैंपलिग के लिए उन इलाकों का चयन किया जाएगा, जहां कोरोना वायरस के बहुत अधिक केस सामने आए हों। सूत्रों के मुताबिक अध्ययन के लिए ऐसे इलाकों पर अधिक फोकस होगा, जहां एक भी केस न आया हो लेकिन वहां पर दूसरे राज्यों से आए लोग रह रहे हों या फिर जहां बहुत अधिक आबादी हो। ग्रामीण इलाकों में भी टीम जाएगी। टीम उन मरीजों से भी मिल सकती है, जिन्होंने पिछले डेढ़ महीने के दौरान कोरोना को मात दी।

टीम लेगी 400 रैंडम सैंपल

यह टीम जिले में दो दिन रुककर 400 रैंडम सैंपल लेगी। कोरोना वायरस के संचरण व मानव में एंटीबॉडी की सीमा को समझने के उद्देश्य से खून के सैंपल लिए जाएंगे। डाटा एकत्रित करके विश्लेषण किया जाएगा। इससे समुदाय में कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने में मदद मिलेगी। इसके साथ ही जिले में कोरोना वायरस का कम्युनिटी ट्रांसमिशन के बारे में पता लगाया जा सकेगा। विभिन्न आयु समूहों में रोग प्रतिरोधक क्षमता को समझने व कोविड-19 के खिलाफ एंटीबॉडी की उपस्थित का पता लग सकेगा। सिविल सर्जन डॉ. राजेश बग्गा ने बताया कि टीम सोमवार को आएगी। दो दिन रुकेगी। आइसीएमआर टीम सेहत विभाग के अधिकारियों से जिले में अब तक आए कोरोना वायरस के मरीजों की जानकारी लेगी। जिले में ज्यातदातर मरीज ए सिमटोमेटिक व वैरी माइल्ड वाले है जिनमें कोई लक्षण नहीं दिखे। उन्होंने कहा कि आइसीएमआर टीम ने अलग-अलग इलाकों में दौरा करना है। टीम जिस भी एरिया में जाएगी, वहां के संबंधित एसएमओ, एमओ, एएनएम व आशा वर्कर भी साथ होंगी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें  

Posted By: Sat Paul

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!